Home » इंडिया » Jammu and Kashmir: Home Minister Amit Shah high level meet on terrorism
 

जम्मू-कश्मीर: गृहमंत्री अमित शाह की इस चाल से आतंकियों का होगा पूरा सफाया, शुरु हुआ बड़ा ऑपरेशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 18:11 IST

अमित शाह के देश का नया गृह मंत्री बनने के बाद जम्मू और कश्मीर की ओर एक बार फिर गृह मंत्रालय की नजरें टिक गई हैं. घाटी से कश्मीरियों के खात्मे को लेकर अब गृहमंत्री अमित शाह एक नई चाल चलने जा रहे हैं. अमित शाह के इस चाल से कश्मीर में आतंकियों का पूरा सफाया हो जाएगा. 

गृहमंत्री बनने के बाद ही अमित शाह ने कश्मीर को लेकर अपना एजेंडा साफ कर दिया था. अमित शाह ने सबसे पहले कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से मुलाकात की. फिर एनएसए अजीत डोभाल के साथ एक बड़ी बैठक की. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, कश्मीर घाटी में सक्रिय 287 आतंकी के खात्मे के लिए एक बड़ा ऑपरेशन चलाया जा सकता है.

मोदी सरकार ने जम्मू कश्मीर मे दस आतंकियों की हिट लिस्ट जारी की है. ये दस आतंकी कश्मीर में साजिश और खूनी प्लान में जुटे हैं. इन आतंकियों में सबसे पहला नाम रियाज नायकू का है. इसके अलावा जैश-ए-मोहम्मद से लेकर लश्कर-ए-तैयबा और हिजुबल-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों के सफाए की डेडलाइन तय कर दी गई है. इन टॉप 10 आतंकियों का जल्द से जल्द सफाया होगा.

वहीं मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह ने गृह सचिव राजीव गौबा, कश्मीर के एडिशनल सचिव ज्ञानेश कुमार समेत कई अफसरों के साथ सीरियस मीटिंग की है. मीटिंग के दौरान जम्मू-कश्मीर में नए सिरे से परिसीमन पर विचार किया गया है. इसके लिए आयोग के गठन पर चर्चा की गई है. माना जा रहा है कि कश्मीर में कुछ सीटें अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित की जा सकती हैं.

अमित शाह ने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से राज्य के परिसीमने पर बात की है. फिलहाल कश्मीर में 46, जम्मू में 37 और लद्दाख में 4 विधानसभा सीटों पर चुनाव होते हैं. वहीं इस आयोग के गठन के बाद विधानसभा क्षेत्रों के आकार पर विचार हो सकता है. SC कैटगरी के लिए कुछ सीटें रिज़र्व की जा सकती हैं.

महाराष्ट्र: कांग्रेस पार्टी में बगावत, कद्दावर नेता विखे का इस्तीफा, 10 विधायकों संग BJP में होंगे शामिल

कर्नाटक में सत्ता का संघर्ष, JDS प्रमुख ने दिया इस्तीफा, कांग्रेस भी बागियों से परेशान

First published: 4 June 2019, 18:10 IST
 
अगली कहानी