Home » इंडिया » Jammu And Kashmir: Indian Army encounters Lashkar E Taiba terrorists Asif
 

30 माह की कश्मीरी बच्ची को मारी थी गोली, सेना ने लिया बदला, लश्कर आतंकी को पहुंचाया हूरों के पास

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2019, 13:10 IST

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान समर्थित आतंकी बौखलाए हुए हैं. इसी बौखलाहट में कुछ दिन पहले लश्कर के एक आतंकी ने 30 माह की कश्मीरी बच्ची पर गोलियां बरसाई थी. इसका बदला भारतीय सेना ने ले लिया है. जम्मू-कश्मीर के सोपोर में सेना ने एनकाउंटर में एक आतंकी को मार गिराया.

इस मारे गए आतंकी की शिनाख्त लश्कर-ए-तैयबा के मोस्ट वांटेड आसिफ के तौर पर हुई. कुछ दिन पहले आसिफ ने ही सोपोर में एक फल विक्रेता कश्मीरी परिवार के घर पर दनादन फायरिंग की थी. इस फायरिंग ने आसिफ ने तीन सदस्यों को गंभीर रूप से घायल कर दिया था. इन घायलों में 30 माह की एक बच्ची शामिल थी.

एनकाउंटर को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि आसिफ सेब कारोबारियों को लगातार धमकी दे रहा था. दिलबाग सिंह ने बताया कि आसिफ ने सोपोर में पिछले काफी समय से आतंक मचा रखा था. वह आखिरी के एक महीने में बहुत ज्यादा सक्रिय हो गया था. उसने ओवर ग्राउंड वर्कर्स के जरिए नागरिकों को दुकान नहीं खोलने की धमकी दी थी.

सुरक्षाबलों को उसके सोपोर में होने की सूचना मिली थी. इसके बाद सुरक्षाबलों ने आसिफ को ढूंढना शुरू किया और आज वह सेना की रडार पर आ गया. इसके बाद सेना ने 30 महीने की बच्ची पर दुर्दान्त तरीके से बरसाई गई गोलियों का बदला आतंकी को हूरों के पास पहुंचाकर लिया.

गुजरात: BJP सरकार ने ही नहीं मानी मोदी सरकार की बात, नए ट्रैफिक नियमों के जुर्माने में कर दी कटौती

Video: मोहर्रम जुलूस के दौरान बड़ा हादसा, लोगों पर भरभराकर गिरी छत, देखकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे

First published: 11 September 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी