Home » इंडिया » Jammu and Kashmir municipal elections: after terrorist attack threat voting started for first phase
 

जम्मू-कश्मीर निकाय चुनाव: आतंकी हमले की धमकी और बहिष्कार के बीच शुरू हुआ पहले चरण का मतदान

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 October 2018, 7:56 IST
(File Photo)

जम्मू कश्मीर में स्थानीय निकाय के पहले चरण के लिए मतदान शुरू हो गया है. चुनाव को लेकर मिली आतंकियों के हमले की धमकी और अलगाववादियों के बहिष्कार के बाद भी आज सुबह घाटी में स्थानीय निकाय चुनाव की प्रथम चरण की प्रकिया शुरू हो गई है. चुनाव के लिए जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सुरक्षा के मद्देनजर पुख्ता इंतजाम किए हैं. आतंकीयों के हमले की धमकी के बाद चुनाव वाले क्षेत्रों में सुरक्षा बलों का गश्त बढ़ा दिया गया है. जनता को किसी तरह का कोई नुकसान न हो इसके लिए पुलिस ने चाक चौबंद व्यवस्था संभाली हुई है.

चुनाव के मदेनजर मीरवाइज उमर फारूक को किया नजरबंद

चुनाव से पहले हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक को रविवार को नजरबंद कर दिया गया है. इस मामले में फारूक ने ट्वीट किया कि, ''नजरबंद हूं. चुनाव की विचित्र लोकतांत्रिक प्रक्रिया चल रही है. बड़ी संख्या में बल तैनात किए गए हैं. पीएसए लगाने, लोगों को कैद और नजरबंद करने, छापेमारी करने, पाबंदियां लगाने और इंटरनेट पर रोक लगाने की प्रक्रिया तेज हुई है.''

 

चार चरण में होंगे मतदान

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में स्थानीय निकायों के चुनाव चार चरणों में संपन्न होंगे. 8 अक्टबूर के बाद दूसरे चरण का मतदान 10 अक्टूबर को, तीसरे चरण की वोटिंग 13 अक्टूबर और अंतिम चरण के लिए वोटिंग 16 अक्टूबर को होगी. वोटों की गिनती 20 अक्टूबर को की जाएगी. राज्य के चुनाव अधिकारी के मुताबिक पहले फेज में कुल 422 वार्डों के लिए 1,283 उम्मीदवार मैदान में हैं. इनमें जम्मू में 1010, कश्मीर में 207, लद्दाख में 66 उम्मीदवार हैं.

मतदान के चलते सरकार ने साउथ कश्मीर में इंटरनेट सेवाओं को ठप्प कर दिया है. इसी के साथ इंटरनेट की स्पीड घटा कर 2G कर दी गई है. सरकार ने ये कदम सुरक्षा की दृष्टि से उठाया है ताकि पहले चरण के मतदान को बिना किसी विघ्न के संपन्न कराया जा सके.

First published: 8 October 2018, 7:54 IST
 
अगली कहानी