Home » इंडिया » Jammu And Kashmir: Pakistan conspiring to escalate violence in vally before UN meeting
 

कश्मीर में लश्कर ने लगाए खौफनाक पोस्टर्स, लिखा- मोदी सरकार का अंजाम अच्छा नहीं होगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 September 2019, 9:21 IST

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अनुबंधों को कमजोर करने के भारत सरकार के फैसले को न तो पाकिस्तान पचा पा रहा है और न ही पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन. खबर आ रही है कि पाकिस्तान कश्मीर में बड़ी आतंकी साजिश रच रहा है. पाकिस्तान के इस नापाक हरकत में कई आतंकी संगठन भी उसका साथ दे रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, खुफिया एजेंसियों को इस साजिश की जानकारी मिली है. इस महीने के आखिर में संयुक्त राष्ट्र महासफा की बैठक होनी है. इससे पहले पाकिस्तान कश्मीर की तरफ दुनिया का ध्यान खींचने के लिए अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर हिंसा फैलाने की कोशिशें कर रहा है.

खुफिया एजेंसियों को इनपुट मिली है कि आने वाले दिनों में सीमापार से गोलीबारी बढ़ सकती है. पाकिस्तान नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तेजी से गोलीबारी कर सकता है. पाकिस्तान का मकसद भारत का जम्मू-कश्मीर से ध्यान हटाना है. इससे पाकिस्तान समर्थित आतंकी कश्मीर में दाखिल हो सकें.

इनपुट के बाद भारतीय सुरक्षाबलों को एलओसी के साथ-साथ कश्मीर के अंदर भी सतर्क रहने को कहा गया है. खबर है कि जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा जैसे आतंकी संगठनों ने घाटी में दहशत और हिंसा फैलाने के उद्देश्य से पोस्टर्स लगाए हैं. पोस्टर में लिखा है कि जो भी कश्मीरी भारत की मोदी सरकार का समर्थन कर रहे हैं वो सारे गद्दार हैं.

इन पोस्टर्स ने लश्कर ने मोदी सरकार का समर्थन करने वालों के लिए चेतावनी भी जारी की है. पोस्टर्स में लिखा है कि लोग अपने-अपने घरों से बाहर न निकलें. इसके अलग सड़क पर गाड़ियां भी दिखाई न दें. पोस्टर में लिखा है कि ऐसा करने से मीडिया में गलत संदेश जा रहा है कि घाटी में सब ठीक-ठाक चल रहा है. इसके अलावा मोदी सरकार के विरोध में भी कई बातें लिखी हैं. लिखा है कि मोदी सरकार ने कश्मीर में जो किया उसका अंजाम अच्छा नहीं होगा.

गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र महासभा की बैठक इसी महीने 17 तारीख से शुरू हो रही है. इसमें दुनिया के अधिकतर देशों के शीर्ष नेता शामिल होंगे. इसी मौके का फायदा पाकिस्तान उठाना चाहता है. पाकिस्तान दुनिया के सामने ये साबित करना चाहता है कि आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद कश्मीर के हालात बदतर हो गए हैं. 

पाकिस्तान की ओछी हरकत, LoC पर तैनात की एक और ब्रिगेड, 2000 सैनिकों की बढ़ाई हलचल

कश्मीर में आने लगा बदलाव, मुस्लिम इलाकों के युवाओं में सेना का क्रेज, 29000 ने लिया भर्ती में हिस्सा

First published: 6 September 2019, 9:10 IST
 
अगली कहानी