Home » इंडिया » Jammu and Kashmir: Public Safety Act imposed on former IAS Shah Faisal after Omar Abdullah
 

जम्मू-कश्मीर: उमर अब्दुल्ला के बाद अब पूर्व IAS शाह फैसल पर लगा पब्लिक सेफ्टी एक्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 February 2020, 11:04 IST

जम्मू-कश्मीर के पूर्व आईएएस (IAS) और जम्मू-कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट (JKPM) के प्रमुख शाह फैसल (Shah Faesa) के खिलाफ पब्लिक सेफ्टी एक्ट (PAC) के तहत मामला दर्ज किया गया है. गौरतलब है कि जम्मू- कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद कई नेताओं पर पीएसी लगाया गया है. इन नेताओं में फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती, अली मोहम्मद सागर, सरताज मदनी, हिलाल लोन और नईम अख्तर शामिल हैं.

शाह फैसल पिछले साल 14 अगस्त से दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 107 के तहत निवारक हिरासत में है. बाद में उन्हें श्रीनगर के एमएलए हॉस्टल में स्थानांतरित कर दिया गया था. इससे पहले जम्मू- कश्मीर के पूर्व सीएम और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला पर पीएसी लगाया गया था. उमर अब्‍दुल्‍ला की बहन सारा अब्‍दुल्‍ला ने अपने भाई पर PAC लगाने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. उमर अब्दुल्ला 4 अगस्त के बाद से ही नजरबन्द हैं. 

जम्मू- कश्मीर में उमर के अलावा पीडीपी नेता और पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर भी पीएसए लगाया गया है और वह फिलहाल नजरबंद हैं. शुक्रवार को उमर अब्दल्ला की बहन की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर को एक नोटिस जारी किया था.

अगस्त 2019 में जम्मू- कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद से वहां के कई नेताओं का नजरबंद किया गया था. इन नेताओं में पूर्व सीएम फारूख अब्‍दुल्‍ला भी शामिल थे. उमर अब्दुल्ला की बहन सारा अब्दुल्ला पायलट कांग्रेस नेता और राजस्‍थान के उप-मुख्‍यमंत्री सचिन पायलट की पत्‍नी हैं.

उमर अब्दुल्ला की हिरासत को चुनौती देने वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने भेजा नोटिस

First published: 15 February 2020, 10:43 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी