Home » इंडिया » Jammu Kashmir Encounter: One terrorist killed in an encounter at Sharshali Khrew area of Awantipora
 

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक आतंकी ढेर, गोलीबारी जारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2020, 9:10 IST

Encounter in Pulwama: कोरोना वायरस (corona virus) के खतरे के बावजूद आतंकी (Terrorist) अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहे. आतंकी लगातार भारत (India) में अपने नापाक मंसूबों को पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन भारतीय सेना (Indian Army) के जवान उन्हें मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं. बुधवार सुबह दक्षिणी कश्मीर (South Kashmir) के पुलवामा जिले (Pulwama District) के अवंतीपोरा इलाके (Awantipora Area) के शरशाली खुरे में भारतीय सेना के जवानों ने एक आंतकी को मौत के घाट उतार दिया.

सेना के जवानों को इस इलाके में कुछ आतंकियों के छुपे होने की खबर मिली थी. उसके बाद सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया. इसी दौरान छुपे हुए आतंकियों ने जवानों पर गोलीबारी शुरु कर दी. जवाबी कार्रवाई में चलाई गई गोलियों से एक आतंकी मारा गया. बताया जा रहा है कि अभी भी इस इलाके में कुछ आतंकी छुपे हुए हैं. सेना के जवान अभी भी सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं. दोनों और से गोलीबारी जारी है. जानकारी के मुताबिक, इस ऑपरेशन में पुलिस और भारतीय सेना के जवान लगे हुए हैं.


जम्मू-कश्मीर: हंदवाड़ा में मुठभेड़ के दौरान सेना के 2 अफसर समेत 5 जवान शहीद, दो आतंकी ढेर

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में आतंकियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाया. इस दौरान आतंकियों ने जवानों पर ग्रेनेड से हमला किया. इस हमले में सीआरपीएफ की 181वीं बटालियन का एक जवान और चार स्थानीय नागरिक घायल हो गए थे. घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हालांकि जवान के घायल होने की अभी तक अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. पूरे इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया जा रहा है.

जम्मू-कश्मीर: हंदवाड़ा में 3 और CRPF जवान शहीद, कल 2 अफसर समेत 5 जवानों की गई थी जान

इससे पहले सोमवार को उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में भी आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई थी. जिसमें सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गए. हमले में चार जवान घायल भी हुए हैं. बता दें कि कार सवार आतंकियों ने सीआरपीएफ पार्टी को निशाना बनाते हुए अंधाधुंध गोलीबारी की थी. सीआरपीएफ जवानों की जवाबी कार्रवाई से आतंकी मौके से भाग निकले. इस हमले की जिम्मेदारी द रिजिंटेंस फ्रंट (TRF) ने ली है.

जम्मू-कश्मीर में बड़े आत्मघाती हमले की तैयारी में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद, घाटी में अलर्ट जारी

घटना के बाद सीआरपीएफ, सेना और पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए. बताया जा रहा है कि इस इलाके से सटे क्रालगुंड का एक आतंकी गनी भाई क्रालगुंड और आसपास के इलाकों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता है. वह इस इलाके में कुछ साल सक्रिय रहा लेकिन बाद में सरेंडर कर दिया था, लेकिन अब पिछले डेढ़ साल से वह दोबारा सक्रिय हो गया है.

3 मई को आना था घर, एक रात पहले देश के लिए शहीद हुए मेजर अनुज, दो साल पहले हुई थी शादी

Coronavirus: ड्राइवर निकला COVID-19 पॉजिटिव, CRPF का दिल्ली मुख्यालय सील, किसी को भीतर जाने की इजाजत नहीं

First published: 6 May 2020, 9:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी