Home » इंडिया » Jammu-Kashmir: Governor Satya Pal Malik says he can be transferred any time
 

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को है तबादले का डर

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 November 2018, 11:44 IST

जम्मू कश्मीर की सियासत में एक नया मोड़ आ गया है. राज्य में सरकार बनाने के पीडीपी, एनसी और कांग्रेस के दावे के बाद विधानसभा भंग करने का आदेश देने वाले गवर्नर सत्यपाल मलिक ने एक समारोह में कहा कि उनकी नौकरी तो नहीं जाएगी लेकिन उनका तबादला कभी भी हो सकता है. सत्यपाल मलिक कांग्रेस नेता गिरधारी लाल डोगरा की 31 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे. आयोजन में ही उन्होनें अपने तबादले की आशंका जताई.

पूर्व मंत्री गिरधारी लाल डोगरा श्रद्धांजलि देते हुए उन्होनें कहा, ''गिरधारी लाल जी ने अपना जीवन गरीबों के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया. जब तक मैं यहां हूं, मैं यहां हूं. मैं उन्हें अपनी श्रद्धांजलि देने जरूर आऊंगा. यह (तबादला) किसी के हाथ में नहीं है. मुझे हटाया नहीं जाएगा, लेकिन तबादले की आशंका है.''

राम माधव के पाकिस्तान कनेक्शन पर अबदुल्ला का जवाब- हिम्मत है तो आरोप साबित करें नहीं तो मांगे माफी

गिरधारी लाल डोगरा के प्रति सम्मान व्यक्त करते हुए उन्होने बताया कि वह मध्य परदेश में थे. और बुखार से पीड़ित थे. लेकिन राजनीति में खराब स्वास्थ का कोई स्थान नहीं है. उन्होंने कहा, ''दिवंगत नेता के कद को देखते हुए इस समारोह का हिस्सा बनने के लिए मैं यहां वापस आया, क्योंकि वह मेरे लिए बहुत महत्वपूर्ण थे.'' जम्मू कश्मीर में विधानसभा भंग करने को लेकर उन्होंने कहा कि उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर उन्होंने केंद्र से मशविरा नहीं किया था.

First published: 29 November 2018, 9:49 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी