Home » इंडिया » Jammu-Kashmir: one terrorist become soldier and martyr for country
 

पहले देश के खिलाफ फैलाते थे आतंक, अब देश के लिए ही दी जान की कुर्बानी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 November 2018, 12:00 IST
(Twitter)

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में रविवार को आतंकियों का सफाया करने के लिए सुरक्षा बलों ने बड़ा अभियान चलाया. सेना के साथ आतंकियों की मुठभेड़ में एक जवान भी शहीद हो गया. शहीद लांस नायक नजीर अहमद वानी को पूरे गांव ने भावभीनी शद्धांजली दी. इस जवान ने आतंक का हाथ छोड़ कर देश के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी. वानी पहले एक आतंकवादी था जो कि बाद में सेना में भर्ती हो गया था.

इतना ही नहीं वानी को अगस्त 2007 में बहादुरी के लिए उन्हें सेना ने पदक देकर सम्मानित किया. और इस साल यानी 2018 में भी सेना ने उन्हें पदक से सम्मानित किया. लांस नायक ने 2004 में प्रादेशिक सेना के 162 बटालियन के साथ अपना करियर शुरू किया था.

अब देश के लिए अपनी जान कुर्बान करने वाले वानी को सोमवार को 21 तोपों की सलामी दी गई. उनके अंतिम संस्कार में गांव के 500 से 600 लोग उन्हें अंतिम विदाई देने के लिए पहुंचे. गौरतलब है कि सेना ने आतंकियों का सफाया करने के लिए घाटी में ऑपरेशन ऑल आउट के जरिये कई आतंकियों को अब मौत के घाट उतार दिया है. रविवार को अनंतनाग में सेना ने 6 आतंकियों को मौत के घात उतार दिया है. अनंतनाग के सेतकीपोरा में मुठभेड़ में सेना के इन आतंकियों को मार गिराया. सेना ने आतंकियों के शव को भी अपने कब्जे में ले लिया है.

आतंकियों पर बरसी भारतीय सेना, अनंतनाग में मार गिराए 6 आतंकी

इससे पहले भी जम्मूकश्मीर के शोपियां में सेना ने मुठभेढ़ में 4 आतंकियों को मौत के घात उतार दिया था. सेना और आतंकियों के बीच ये मुठभेढ़ नदिगाम गांव में हुई. गांव में आतंकियों के छुपे होने की खबर के बाद से सेना ने इलाके में आतंकियों के ठिकाने पर दबिश करके 4 आतंकियों को मार गिराया था.

First published: 27 November 2018, 12:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी