Home » इंडिया » Jantar Mantar-Tamil Nadu farmers eat grass protesting for drought relief funds in Delhi
 

'अनसुना' अनशन: जंतर-मंतर पर बदहाल किसानों ने जानवरों के चारे को बनाया निवाला

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 April 2017, 16:16 IST
(ani)

दिल्ली के जंतर-मंतर पर पिछले कई दिनों से तमिलनाडु से आए किसान धरने पर बैठे हैं. उनकी मांग है कि केंद्र सरकार उनकी मांगों को पूरा करे. वो एक बार देश के पीएम मोदी से मिलकर उन्हें अपनी समस्या बताना चाहते हैं, पर आज तक उनकी ये इच्छा पूरी नहीं हो पाई है.

तमिलनाडु से करीब 100 किसान आकर यहां आकर धरने पर बैठे हुए हैं. वो आए दिन विरोध प्रदर्शन के नए-नए तरीके अपना रहे हैं. आज इन किसानों ने जंतर-मंतर पर घास खाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया. इन किसानों ने अपनी बदहाली को बयां करने के लिए जानवरों की तरह चार टांगों में खड़े होकर विरोध किया. इन सबने इसी तरह खड़े होकर घास अपने मुंह में रखी और घास खाई.

गौरतलब है कि तमिलनाडु से आए ये किसान जब पीएमओ के बाहर पीएम से नहीं मिल पाए थे, तो इनमें से तीन किसानों ने निर्वस्त्र होकर पीएमओ के बाहर प्रदर्शन किया था. इन किसानों की मांग है कि सूखा पड़ने से जो उन्हें नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई चालीस हजार करोड़ रुपए का पैकेज देकर की जाए. इसके अलावा इन किसानों की ये भी मांग है कि राज्य में पानी की किल्लत को दूर करने के ठोस उपाय किए जाएं.

जंतर-मंतर पर जमा हैं 100 किसान

पिछले कई हफ्तों से दिल्ली के जंतर-मंतर पर तमिलनाडु से आए सौ किसान धरना दे रहे हैं. ये किसान अपने साथ उन नर कंकालों को भी लाए हैं, जिन्होंने खेती में घाटा होने पर आत्महत्या कर ली थी. इसके अलावा चूहों को खाकर भी वो अपना विरोध जता रहे हैं. अभी कुछ दिन पहले इन्होंने जमीन पर चावल और दाल डालकर भी खाया था.

तमिलनाडु से आए इन किसानों से कांग्रेस उपाध्यक्ष से लेकर कई नेता मिल चुके हैं पर अभी तक ये खाली हाथ ही हैं. इनका कहना है कि जब तक इनकी मांग पूरी नहीं होगी ये यहां से वापस नहीं लौटेंगे.

First published: 17 April 2017, 16:13 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी