Home » इंडिया » jat reservation: after haryana rajasthan burning
 

जाट आरक्षण: हिंसा की आंच पहुंची राजस्थान, उपद्रवियों ने जलाई बस

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 February 2016, 23:38 IST

हरियाणा में जाटों का आरक्षण के लिए हिंसक आंदोलन अभी थोड़ा शांत हुआ था कि पड़ोसी राज्य राजस्थान में भी जाट आरक्षण की मांग हिंसक रूप अख्तियार करती नजर आ रही है.

राजस्थान के भरतपुर में तीन जगहों पर हाईवे जाम की खबरे आ रही हैं. इससे पहले धौलपुर-भरतपुर जिले में जाट आरक्षण की मांग को लेकर आज सुबह से जगह-जगह प्रदर्शन हुए और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया.

प्रदर्शनकारियों ने यहां मथुरा रोड पर धौरमुई ऑयल डिपो और सरसों अनुसंधान निदेशालय के पास राजस्थान रोडवेज की बस आग के हवाले कर दिया है.

इसके अलावा जयपुर-आगरा रेलमार्ग पर पपरेरा स्टेशन के पास सुबह करीब आठ बजे उपद्रवियों ने ट्रेक पर कब्जा कर लिया और पूरे रेल मार्ग को बाधित कर दिया है. हिंसक तत्वों ने ट्रेक पर सीमेंटेड स्लीपर रख दिए और लाइन के पैण्डल तक उखाड़ दिए हैं.

इस बीच कल हरियाणा के सोनीपत में भी प्रदर्शनकारियों ने 6 बसों में आग लगा दी थी. रोहतक से भी छिटपुट हिंसा की खबरें आ रही थीं.

हालांकि दिल्ली-चंडीगढ़ हाईवे पर कुछ समय के लिए सामान्य आवाजाही हुई है. इससे पहले कल रविवार को केंद्र सरकार ने हरियाणा में जाट समुदाय की आरक्षण की मांग की समीक्षा के लिए केंद्रीय मंत्री वैकया नायडू की अध्यक्षता में एक समिति के गठन की घोषणा हुई है.

इसके बाद से हरियाणा में जनजीवन फिर से सामान्य होने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. दो दिन पहले प्रदर्शनकारियों के हिंसक आंदोलन में सबसे ज्यादा नुकसान रोहतक को हुआ है. हालांकि रोहतक आज सामान्य हालात की ओर तेजी से बढ़ रहा है. हिंसा और आगजनी के कारण दो दिन पहले ही यहां सैना तैनात करनी पड़ी थी.

First published: 22 February 2016, 23:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी