Home » इंडिया » JEM terrorists are targeting BJP leaders election rallies
 

BJP नेताओं की रैलियों पर जैश के संदिग्ध आतंकवादियों की नजर!

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 February 2019, 9:44 IST

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय सेना सतर्क हो गई है. उसके बाद देवबंद से एक हॉस्टल से जैश--मोहम्मद के दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया. अब इस बात का खुलासा हुआ है कि जैश के संदिग्ध आतंकियों के निशाने पर सहारनपुर में होने वाली बीजेपी नेताओं की चुनावी रैलियां थीं. आतंकियों ने ये इस बात का खुलासा पूछताछ में किया है. बता दें कि देवबंद के नाज हॉस्टल से पकड़े गए दोनों संदिग्ध आतंकी शाहनवाज अहमद तेली और अहमद मलिक को वेस्ट यूपी में जैश का भर्ती कैंप ऑपरेट करने की जिम्मेदारी दी गई थी.

एटीएस, इंटेलीजेंस और बाकी एजेंसियों की छानबीन के बाद सनसनीखेज खुलासा हुआ है. एटीएस सूत्रों की मानें तो जैश के दोनों संदिग्ध आतंकी इंडियन मुजाहिद्दीन के मॉड्यूल हरकत उल हर्ब ए इस्लाम की तर्ज पर ही काम कर रहे थे. जैश के इन संदिग्ध आतंकियों के निशाने पर बीजेपी के कुछ नेता और भाजपाइयों की चुनावी रैलियां थीं.

सूत्रों के मुताबिक इस काम के लिए ही दोनों संदिग्ध आतंकी सहारनपुर पहुंचे थे और यहां ऑपरेशन को अंजाम देना चाहते थे. इस काम के लिए स्थानीय युवकों की जरूरत थी, इसलिए ही उन्हें गिरोह से जोड़ा जा रहा था. इन बातों का खुलासा होने के साथ ये भी पता चला है कि दोनों ने कुछ बड़े ग्राउंड की रेकी भी की थी.

बता दें कि ये लगातार दूसरी बार है जब एटीएस, एनआईए और सुरक्षा एजेंसियों के इनपुट के बाद संदिग्ध आतंकियों के मंसूबों को दिल्ली और यूपी में नाकाम किया गया है. इस पूरे मामले में खुलासा होने के बाद गोपनीय रिपोर्ट गृह मंत्रालय को भेजी जा रही है. दूसरी ओर स्थानीय स्तर पर भी अलर्ट जारी है, जिसके तहत एलआईयू और आईबी तमाम तरह की जानकारी जुटा रही हैं.

पुलवामा हमले का पाक को मुंह तोड़ जवाब, सेना ने पाकिस्तान में फेंका 1000 KG बम, आतंकी ठिकाने तबाह

First published: 26 February 2019, 9:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी