Home » इंडिया » Jharkhand beef lynching case: Out on bail convict Sikandar Ram dies of electrocution
 

झारखंड: रामगढ़ लिंचिंग दोषी सिकंदर राम की करंट लगने से मौत, जमानत पर था बाहर

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2018, 10:09 IST

झारखंड के रामगढ़ में पिछले साल एक मीट कारोबारी मोहम्मद अलीमुद्दीन की भीड़ ने गोहत्या के शक में पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. अलीमुद्दीन हजारीबाग के रहने वाले थे. वह मीट का कारोबार करते थे. उनकी हत्या के आरोप में 11 लोगों को दोषी ठहराया गया था. इस मामले में एक दोषी सिकंदर राम की शुक्रवार (27 जुलाई) को करंट लगने से मौत हो गई.

सिकंदर की मौत उसके घर के पास हुई. वह झारखंड उच्च न्यायालय से मिली जमानत के कारण जेल से बाहर था. पुलिस ने बताया कि यह घटना बाजार टांड इलाके में तब हुई जब सिकंदर राम बाजार की तरफ जा रहा था.

पढ़ें- केरल: मछली बेचने वाली छात्रा ने ट्रोलर्स को दिया मुंहतोड़ जवाब, CM विजयन का भी मिला साथ

पुलिस के अनुसार, रास्ते में बारिश के पानी में करंट उतरने से उसकी मौके पर मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि सड़क पर इकट्ठा हुए बारिश के पानी में करंट उतर गया था. सिकंदर अपने घर से बाहर निकला ही था और कुछ दूर जाने के बाद भरे पानी के पास से गुजरते समय वह करंट की चपेट में आ गया. जिसके बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

रामगढ़ टाउन पुलिस स्टेशन के इन्चार्ज राजेश कुमार ने मौके पर पहुंच कर सिकंदर की मौत की पुष्टि की. पुलिस ने सिकंदर की लाश को बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. बता दें कि हाई कोर्ट ने 29 जून को सिकंदर के साथ मॉब लिंचिंग के 11 आरोपियों में से 8 को जमानत दे दी थी.

पढ़ें-BJP सांसद- मुसलमानों की बढ़ती आबादी लिंचिंग, रेप और आतंकवाद के लिए है जिम्मेदार

बता दें कि पिछले साल मीट कारोबारी मोहम्मद अलीमुद्दीन की भीड़ ने गोहत्या के शक में पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. वह एक मारुति वैन से रामगढ़ से गुजर रहे थे. तभी कुछ लोगों ने उनकी गाड़ी रोक ली और पीट-पीटकर उनकी हत्या कर दी. इस दौरान उनकी वैन भी जला दी गई थी.

First published: 28 July 2018, 10:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी