Home » इंडिया » Jharkhand: BJP Government want to shut over six thousands middle schools in state
 

झारखंड की BJP सरकार बंद करना चाहती है 6 हजार से ज्यादा मिडिल स्कूल, विरोध शुरू

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 December 2018, 18:27 IST

झारखंड की रघुवर दास सरकार राज्ये के 6000 से ज्यादा मिडिल स्कूलों को बंद कराने की तैयारी में है. इसकी खबर सामने आते ही विरोध होना शुरू हो गया है. इससे पहले झारखंड सरकार ने राज्य के 4600 प्राइमरी स्कूलों को हाईस्कूल्स के साथ विलय करने की घोषणा की थी.

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, झारखंड की बीजेपी सरकार राज्य के 6466 मिडिल स्कूल्स को बंद करने जा रही है. सरकार के इस फैसले के पीछे स्कूलों में छात्रों की संख्या 100 से भी कम होना बताया जा रहा है. सरकार के इस फैसले के सामने आते ही विरोध भी शुरु हो गया है.

बता दें कि मिडिल स्कूल्स को बंद करने के फैसले से पहले झारखंड सरकार ने 50 से कम छात्रों की संख्या वाले स्कूलों को इलाके के ही हाईस्कूल्स में विलय करने का फैसला किया था. फैसले के सामने आते ही इन स्कूलों का विलय करने की प्रक्रिया भी शुरु कर दी गई है.

झारखंड के शिक्षा सचिव एपी सिंह ने कहा, "स्कूलों के विलय का फैसला छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मुहैय्या कराने के उद्देश्य किया गया है. झारखंड में करीब 411 ऐसे मिडिल स्कूल्स हैं, जहां छात्रों की संख्या 10 से भी कम है, यदि ऐसे स्कूल्स का विलय हाईस्कूल्स में किया जाता है तो छात्रों को बेहतर शिक्षा मिल सकेगी."

एपी सिंह ने कहा कि शिक्षा के अधिकार कानून के तहत एक मिडिल स्कूल में जिसमें 100 से कम छात्र हों तो वहां कम से कम तीन ग्रेजुएट टीचर होने जरुरी हैं. उन्होंने कहा कि जिन स्कूलों में 10 से भी कम छात्र हैं, वहां भी तीन टीचर्स का होना सही नहीं है.

First published: 22 December 2018, 18:28 IST
 
अगली कहानी