Home » इंडिया » Jharkhand: maoist surrendered in front of DGP
 

झारखंड में नक्सलियों की 'नई दिशा': पांच लाख के इनामी माओवादी ने भी किया सरेंडर

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 February 2017, 8:19 IST
(कैच)

झारखंड में माओवादी आंदोलन के खिलाफ पुलिस को उस समय बड़ी सफलता मिली, जब सिमडेगा-गुमला इलाके में सक्रिय पांच लाख रुपये के इनामी नक्सली संतोष कुमार सिंह ने पुलिस के सामने हथियार डाल दिया.

संतोष ने पुलिस मुख्यालय रांची में पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय के सामने आत्मसमर्पण कर दिया. वह माओवादी सब जोनल कमांडर है.

राज्य पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि सिमडेगा-गुमला इलाके के माओवादी सब जोनल कमांडर संतोष कुमार सिंह उर्फ संतोष भोक्ता ने शुक्रवार को राज्य पुलिस के महानिदेशक डीके पांडेय के समक्ष नयी दिशा कार्यक्रम के तहत पुलिस मुख्यालय में आत्मसमर्पण कर दिया.

सिमडेगा जिले में कोलेबिरा थाना क्षेत्र के टुटिकेल गांव के रहने वाले इस नक्सली कमांडर के पिता और परिजनों ने इस साल के प्रारंभ में ही संतोष के आत्मसमर्पण के लिए पुलिस से संपर्क किया था.

पुलिस ने बताया कि 2008 से ही माओवादी हिंसा में शामिल रहे संतोष पर 14 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं और उसने तत्कालीन शीर्ष नक्सली कमांडर देबू जी के नेतृत्व में इस क्षेत्र में हिंसक गतिविधियों में भाग लिया.

पुलिस के मुताबिक इस वर्ष जनवरी से अब तक राज्य में नक्सलियों को मुख्य धारा में लाने के लिए चलाये जा रहे नयी दिशा कार्यक्रम के तहत 17 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है, जिनमें पांच सबजोनल कमांडर हैं.

First published: 15 October 2016, 11:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी