Home » इंडिया » Jharkhand's 36 castes to come in central OBC list, proposal sent to central government
 

इस राज्य की 36 जातियां होंगी केंद्रीय ओबीसी सूची में शामिल, केंद्र सरकार को भेजा प्रस्ताव

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 August 2020, 15:58 IST

सरकारी नौकरी (Government Jobs) में ज्यादा से ज्यादा लोगों को आरक्षण (Reservation) का लाभ मिल सके इसके लिए झारखंड सरकार (Government of Jharkhand) 36 जातियों को केंंद्रीय ओबीसी सूची (Central OBC list) में शामिल करने का पहल की है. इसके लिए झारखंड सरकार ने केंद्र सरकार (Central Government) को एक प्रस्ताव भेजने जा रही रही है. जिसमें कुड़मी, सुंडी और कुम्हार समेत राज्य की 36 जातियों को केंद्र की ओबीसी सूची में शामिल करने की बात कही गई है. जिससे झारखंड के युवाओं को केंद्र की नौकरियों में आरक्षण का लाभ मिल सके.

झारखंड के पिछड़़ा वर्ग-1 और पिछड़ा वर्ग- दो की कोटि में शामिल इन जातियों को भारत सरकार (Government of India) की ओबीसी (OBC) में शामिल करने के लिए प्रस्ताव भेजने को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (CM Hemant Soren) ने हरी झंडी दे दी है. झारखंड सरकार की ओर से केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्रालय को यह प्रस्ताव भेजा जाएगा. केंद्रीय सामाजिक न्याय मंत्रालय इसे राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को भेजेगा. वहां आपत्तियां मंगाने और विशेषज्ञों के सलाह के बाद आयोग फैसला लेगा कि इन जातियों को ओबीसी वर्ग में शामिल किया जाए या नहीं.


अब एक परीक्षा देकर मिलेगी सरकारी नौकरी, साल में दो बार होगा एग्जाम, जानिए क्या है नया पैटर्न

केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुमोदन के बाद राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग इसकी अधिसूचना जारी कर देगा. राज्य सरकार को भी इसकी सूचना भेजी जाएगी. जाति प्रमाण-पत्र बनाने की ऑनलाइन प्रक्रिया में भी इससे संबंधित बदलाव करने होंगे. गौरतलब है कि भारत सरकार की पिछड़ा वर्ग सूची में पहले से झारखंड की 134 जातियां शामिल हैं. प्रस्तावित 36 जातियों को भी शामिल करने पर भारत सरकार की पिछड़ा वर्ग सूची में झारखंड की कुल 170 जातियां आ जाएंगी.

भारतीय सेना, नेवी और एयरफोर्स में नौकरी करने का शानदार मौका, ऐसे करें अप्लाई

झारखंड सरकार की इस पहल से सूबे की एक करोड़ 25 साल से ज्यादा आबादी को इससे लाभ होगा. जानकारों का मानना है कि इसमें अकेले कुड़मी जाति की तादाद 70 लाख से 80 लाख के बीच है. वहीं इसी तरह सूंडी, चंद्रवंशी, कुम्हार और राजभट आदि जातियां भी लगभग 10 लाख की संख्या में हैं. इसलिए सभी 30 जातियों को मिलाकर तादाद सवा करोड़ के आस-पास पहुंच जाएगी. इससे झारखंड में स्थित केंद्र सरकार के कार्यालयों और सार्वजनिक उपक्रमों में भी झारखंडवासियों की ज्यादा हिस्सेदारी सुनिश्चित हो सकेगी.

झारखंड की ये जातियां होंगी ओबीसी में शामिल

यहां निकली क्लर्क, असिस्टेंट और स्टेनोग्राफर के पदों पर निकली वैकेंसी, 12वीं और स्नातक करें अप्लाई

1.कुड़मी, 2.माहिस्य, 3.मगदा-गौड़ महाकुड़ /गोप,ग्वाला, 4-चंद्रवंशी/ रवानी, 5-हजाम, 6-बारी, 7-बागची, 8-राजभट (मुस्लिम), 9-शाह, फ़क़ीर, मदार, देवान, 10-शेख, 11-कुम्हार/ कुंभकार, 12-सोय, 13-तिली /एकादश तिली /द्वादश तिली /एकादश तेली/ द्वादश तेली, 14-वागाल/ खंडवाल खंडुवाल खंडाइत, 15-खैरा, 16-परघा/परीधा/पैरधा/पलीआर, 17-मड़ैया, 18-कुलु/गोराई, 19-सुंडी, 20- वीयार, 21-वेश बनिया एवं एकादश बनिया, 22-ग्वाला (मुस्लिम ), 23-जदुपतिया, 24-गोसाई, गिरि सन्यासी , अतित, अतिथ, 25-परथा

संघ लोक सेवा आयोग में इन पदों पर निकली भर्ती, जानिए शैक्षिक योग्यता और आवेदन का तरीका

26-बनिया (रॉकी एवं बियाहूत कलवार, जयसवाल, जैशवार, कमलापुरी, वैश्य, बनिया, माहुरी, बैस्य, बंगी वैश्य, वर्णवाल, गधबनिक/ गधबनिया /ओमर /उमर वैश्य /वर्णवाल/गंधबनिया / गंधबनिक/ ओमर/उमर वैश्य/ बनिया / बनवार), 27-घासी महाकुल /म्हकुल, 28-सुवर्ण वणिक अष्टलोही कर्मकार, स्वर्णकार, 29-सूत्रधार, 30-जैसवार कुर्मी एवं चंदेल कुर्मी, 31- राजभाट /ब्रह्मभाट, 32-वैष्णव, 33-पाइक, 34-चासा, 35- क्याली, 36-मलिक (मुस्लिम)

बिहार में बड़ी संख्या में निकलने वाली है कंप्यूटर ऑपरेटर्स की भर्ती, कर लें तैयारी

First published: 23 August 2020, 15:58 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी