Home » इंडिया » #Jigisha Ghosh 2009 Murder,Delhi,IT employee,Saket Court,Ravi Kapoor, Baljit Singh,Amit Shukla,guilty,20 August,catch hindi
 

दिल्ली के जिगिशा घोष मर्डर केस में तीनों अभियुक्त दोषी करार

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:48 IST
(फाइल फोटो)

दिल्ली के चर्चित जिगिशा घोष मर्डर केस में अदालत ने तीनों अभियुक्तों को दोषी करार दिया है. आईटी कर्मचारी जिगिशा की 2009 में हत्या कर दी गई थी.

दिल्ली के साकेत कोर्ट ने आज इस मामले में फैसला सुनाते हुए तीन अभियुक्तों रवि कपूर, अमित शुक्ला और बलजीत सिंह को मुजरिम माना है. तीनों दोषियों को 20 अगस्त को सजा का एलान किया जाएगा.

मार्च 2009 में आईटी कर्मचारी की हत्या

28 साल की जिगिशा घोष मार्च 2009 में नोएडा स्थित अपने कार्यालय गई थी और लौटकर नहीं आई. लापता होने के तीन दिन बाद 21 मार्च 2009 को फरीदाबाद पुलिस ने उसका शव सूरजकुंड से तीन किलोमीटर की दूरी पर बरामद किया था.

पुलिस के मुताबिक वारदात से पहले हमलावरों ने घोष के एटीएम कार्ड के जरिए उसके खाते से 25000 रुपये निकलवाए और सरोजनी नगर बाजार में कुछ खरीददारी भी की थी.

आरोपियों की पहचान सीसीटीवी फुटेज के जरिए की गई थी. इससे पहले पांच जुलाई को सुनवाई के दौरान दिल्ली की साकेत अदालत ने इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया था.

साकेत कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संदीप यादव ने अभियोजक और बचाव पक्ष के वकीलों की जिरह सुनने के बाद फैसले के लिए 14 जुलाई की तारीख तय की थी. 

आरोपियों के खिलाफ आईपीसी और आर्म्स एक्ट के तहत हत्या, आपराधिक साजिश, अपहरण, लूट और जालसाजी के मामले में आरोप तय किए गए थे.

First published: 14 July 2016, 2:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी