Home » इंडिया » Jinnah portrait in AMU: Tejashwi Yadav attacks PM Modi and CM Yogi says We are with you AMU
 

जिन्ना विवाद: तेजस्वी ने किया AMU का सपोर्ट, कहा- मोदी और योगी छिपा रहे विफलता

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 May 2018, 12:24 IST

यूपी के अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर उपजे विवाद के बीच बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ और पीएम मोदी पर हमला किया है. इसके अलावा इस पर टिप्पणी करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि वह अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी के साथ हैं.

तेजस्वी यादव ने इस मामले में अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया है. लालू के बेटे ने ट्वीट करते हुए कहा, "जिन्ना की फोटो पर विवाद मोदीजी और योगीजी के शासन काल में निराशाजनक विफलता को छिपाने के लिए एक कवर मात्र है. प्रिय एएमयू! धर्मनिरपेक्षता और समाजवाद के आदर्शों की रक्षा के लिए हम आपके साथ एकजुट हैं. जय हिन्द"

गौरतलब है कि अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सतीष गौतम ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के कुलपति को लिखी चिट्ठी लिखकर कहा था कि सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि यूनिवर्सिटी में पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर लगी हुई है. मुझे इस बारे में जानकारी नहीं है कि यह तस्वीर एएमयू के किस विभाग में और किन कारणों से लगी हुई है. कृपया इस संबंध में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर मुझे अवगत कराने का कष्ट करें.

इसके बाद हिंदु युवा वाहिनी के सदस्योंं ने एएमयू से जिन्ना की तस्वीर हटाए जाने को लेकर सर्कल हॉल पर प्रदर्शन किया था. इस संगठन ने नारेबाजी करते हुए वहां जिन्ना का पुतला भी फूंका था. इसके बाद एएमयू के छात्रों ने हिंदु युवा वाहिनी का विरोध जताया थी. जिसके बाद छात्रों के विरोध से दोनों पक्षों के बीच टकराव की स्थिति बन गई थी. फिर दोनों पक्षों में मारपीट के साथ पथराव शुरू हो गया था. मामला शांत कराने के लिए मौके पर पहुंची पुलिस पर भी एएमयू के छात्रों ने पथराव किया थी. हालात को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा था.

पढ़ें- कर्नाटक चुनाव में BJP के सबसे ज्यादा क्रिमिनल और करोड़पति उम्मीदवार, रिपोर्ट में खुलासा

दो मई को हुए बवाल और उसके बाद जारी घटनाक्रम बाद वहां का माहौल अभी भी गर्म है और शहर में धारा 144 लागू है. कई दिनों से छात्र धरने पर भी बैठे हैं. इस पर विश्वविद्यालय के कुलपति का कहना है कि यह तस्वीर स्टूडेंट यूनियन के हॉल में लगी है और यह कोई नई बात नहीं है. यह तस्वीर 1938 से ही लगी है.

First published: 7 May 2018, 12:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी