Home » इंडिया » Jitan Ram Manjhi party HAM separated from Grand Alliance before Bihar assemby election
 

बिहार चुनाव से पहले महागठबंधन से अलग हुई जीतन राम मांझी की पार्टी, जा सकती है BJP के साथ

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 November 2019, 13:13 IST

साल 2020 में होने वाले बिहार विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन को बड़ा झटका लगा है. महागठबंधन से पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी ने किनारा कर लिया है. हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (सेक्यूलर) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने महागठबंधन से अलग होने का निर्णय लिया है.

बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने महागठबंधन में समन्वय समिति नहीं होने और सर्वसम्मति से निर्णय नहीं होने का आरोप लगाया. इसके बाद उन्होंने ऐलान किया कि उनकी पार्टी बिहार और झारखंड विधानसभा चुनाव अकेले दम पर लड़ेगी.

 

दूसरी तरफ, जैसे ही मांझी ने महागठबंधन से अलग होने की घोषणा की, उनसे बीजेपी नेताओं के मिलने-जुलने का सिलसिला बढ़ गया है. बीजेपी के MLC संजय पासवान ने गुरुवार को मांझी से मुलाकात की. इसके बाद आज बीजेपी विधायक रामप्रीत पासवान उनसे मिलने पहुंचे.

बीजेपी नेताओं से मुलाकात के बाद आशंका जताई जा रही है कि मांझी बीजेपी के साथ जा सकते हैं. हालांकि मांझी ने बीजेपी नेताओं के साथ मेल-मिलाप पर सफाई देते हुए कहा कि इसमें कोई राजनीतिक बात नहीं है. ये मेल-मिलाप व्यक्तिगत कारणों से हुई है. उन्होंने कहा कि वह एनडीए में शामिल नहीं होंगे.

'नोटबंदी के आतंकी हमले ने देश की अर्थव्यवस्था को किया बर्बाद' राहुल गांधी का हमला

महाराष्ट्र: CM पद से इस्तीफा दे सकते हैं देवेंद्र फडणवीस, लौटाएंगे सारी सरकारी सुविधाएं

First published: 8 November 2019, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी