Home » इंडिया » jnu: abvp presiden wrote letter to president
 

जेएनयू विवाद: एबीवीपी के सौरभ शर्मा ने जुर्माने के बाद राष्ट्रपति से लगाई गुहार

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2016, 11:56 IST

जेएनयू कैंपस में बीती 9 फरवरी को अफजल गुरु को लेकर हुए विवादास्पद कार्यक्रम के मामले में जेएनयू एबीवीपी के सदस्य सौरभ शर्मा ने विश्वविद्यालय प्रशासन के द्वारा अर्थदंड लगाए जाने के बाद राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से बचाव की गुहार लगाई है. 

सौरभ शर्मा ने राष्ट्रपति से राष्ट्रवादी छात्रों की रक्षा की मांग की है. कैंपस में हुए विवादास्पद कार्यक्रम के शिकायतकर्ता को जांच कमेटी ने यातायात बाधित करने का दोषी पाया जिसके बाद विश्वविद्यालय प्रशासन ने सौरभ शर्मा पर 10,000 रूपये का जुर्माना लगाया था.

सौरभ ने राष्ट्रपति को लिखे एक पत्र में कहा है कि, 'मैंने जेएनयू के राष्ट्रवादी छात्रों के साथ 9 फरवरी को देशद्रोही गतिवधियों का विरोध करते हुए जेएनयू प्रशासन को एक आपत्ति पत्र दिया था. उसी के आधार पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने कार्यक्रम की अनुमति वापस ले ली थी. हालांकि इसके बावजूद कुछ छात्र नेताओं के साथ आयोजकों ने उस कार्यक्रम को किया.'

सौरभ ने पत्र में कहा है कि उस जमावड़े का विरोध करने और भारत विरोधी कार्यक्रम का आयोजन करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी में कानून का साथ देने की सजा मुझे दी जा रही है, जो सरासर गलत है.

जेएनयू प्रशासन भारत विरोधी छात्रों और राष्ट्रवादी छात्रों के बीच फर्क कर पाने में नाकाम रहा है. मुझे मुख्य प्रॉक्टर के ऑफिस से आदेश मिला है कि मुझे भविष्य में ऐसे किसी कार्यक्रम-जुलूस का विरोध नहीं करना है.

First published: 1 May 2016, 11:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी