Home » इंडिया » JNU presiden didn't raises Anti India Slogans
 

'कन्हैया ने नहीं लगाए थे देशविरोधी नारे'

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 February 2016, 10:31 IST
QUICK PILL
  • पीटीआई के हवाले से आ रही खबर के मुताबिक दिल्ली पुलिस की रिपोर्ट में जेएनूय प्रकरण का असली दोषी डीएसयू छात्र संगठन को बताया गया है. फिलहाल इसके नेता फरार हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि कन्हैया कुमार ने भड़काऊ भाषण नहीं दिए.
  • पुलिस की रिपोर्ट के मुताबिक डीएसयू नेता उमर खालिद के नेतृत्व में भीड़ ने प्रदर्शन की योजना बनाई थी लेकिन जब उन्हें प्रदर्शन की अनुमति नहीं मिली. इससे नाराज होकर उन्होंने मकबूल भट और अफजल गुरु के पक्ष में नारेबाजी शुरू कर दी. पुलिस का कहना है कि कन्हैया इस भीड़ में मौजूद था.

देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किए जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार की रिहाई को लेकर संशय बढ़ गया है. दिल्ली पुलिस की रिपोर्ट केमुताबिक जेएनूय प्रकरण का असली दोषी डीएसयू का नेता है. 

फिलहाल इसके ज्यादातर नेता फरार है. रिपोर्ट में कहा गया है कि कन्हैया कुमार ने भड़काऊ भाषण नहीं दिए.

गृह मंत्रालय के सूत्रों के हवाले से पीटीआई की रिपोर्ट में कहा गया है, 'कन्हैया ने दोशद्रोह के नारे नहीं लगाए.' कन्हैया कुमार को आज कोर्ट में पेश किया जाना है. 

गृह मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि कन्हैया को लेकर मंत्रालय अभी तक किसी नतीजे पर नहीं पहुंचा है. उन्होंने कहा केवल नारे लगाना ही देशद्रोह के दायरे में नहीं आता है. 

जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि डीएसयू नेता उमर खालिद के नेतृत्व में छात्रों ने प्रदर्शन की योजना बनाई थी लेकिन जब उन्हें प्रदर्शन की अनुमति नहीं मिली तो उन्होंने बाद में मकबूल भट और अफजल गुरु के पक्ष में नारेबाजी  शुरू कर दी. पुलिस का कहना है कि कन्हैया इस भीड़ में मौजूद था.

पुलिस का कहना है कि इसमें कन्हैया के अलावा कई अन्य छात्र भी मौजूद थे जो अलग-अलग छात्र संगठनों से जुड़े हुए थे. इस बीच दिल्ली पुलिस के कमिश्नर बीएस बस्सी ने कहा कि कन्हैया के खिलाफ जो भी सबूत हैं उसे हम अदालत में पेश करेंगे. 

इस बीच बिहार बीजेपी के नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने भी कन्हैया की गिरफ्तारी के खिलाफ बयान दिया है. सिन्हा ने कहा, 'कन्हैया ने देश विरोधी नारे नहीं लगाए थे.'

देश के दूसरे विश्वविद्यालय में भी जेएनयू के समर्थन में प्रदर्शन हुआ है. बंगाल के जाधवपुर विश्वविद्यालय में छात्रों ने जेएनयू के समर्थन में रैली निकाली. खबरों के मुताबिक वहां भी छात्रों ने देश विरोधी नारे लगाए.

First published: 17 February 2016, 10:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी