Home » इंडिया » JNU Row: Photocopy shops refusing to print posters
 

जेएनयू विवाद: दुकानदारों ने छात्रों के पोस्टर छापने से मना किया

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 March 2016, 16:59 IST

जवाहरलाल नेहरू युनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्रों ने आरोप लगाया है कि कैंपस में फोटोकॉपी की दुकानों ने पोस्टर का प्रिंट देने से इंकार कर दिया है.

कैंपस में फोटोकॉपी की दुकानों के मालिकों ने दावा किया कि डर से उन्होंने विरोध प्रदर्शनों का प्रिंट पोस्टर देने से मना किया. हालांकि, छात्रों ने आरोप लगाया कि जेएनयू प्रशासन ने उन्हें ऐसा करने का निर्देश दिया है. जेएनयू के रजिस्ट्रार भूपिंदर जुत्सी ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है.

रोहित-जेएनयू विवादः राज्यों में नहीं बल्कि अन्य मोर्चों पर उबरी भाजपा

जेएनयू कैंपस में फोटोकॉपी दुकान के एक मालिक ने पहचान जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, 'सादे कपड़े में रविवार रात मेरी दुकान पर दो पुलिसकर्मी आए और मुझसे प्रिंट किए गए पोस्टरों की पहचान करने को कहा.'

दुकानदार ने बताया, 'मैंने देखा नहीं कि उसपर क्या लिखा था और छात्रों ने जो कहा प्रिंट कर दे दिया. किसी ने भी हमें प्रिंट देने से मना नहीं किया लेकिन मैंने फैसला किया कि प्रशासन द्वारा सत्यापित पर्ची देने पर प्रिंट दूंगा.'

जेएनयू विवाद: 'जिस भारत के लिए करियर दांव पर लगाया है उसे कैसे बर्बाद कर सकता हूं?'

जेएनयू में चल रहे विवाद के बीच दिल्ली पुलिस ने कई दुकान मालिकों से पूछताछ की और डर का माहौल है. इससे पहले शनिवार को फिर से जेएनयू परिसर में विवादित पोस्टर लगाए गए थे.

इन पोस्टर्स में कश्मीर की आजादी की मांग का जिक्र किया गया था. कश्मीर की आजादी की मांग वाले इन पोस्टर्स में भारत को जेल बताया गया है.

First published: 1 March 2016, 16:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी