Home » इंडिया » JNU Row: supreme court will hear plea on patiala court incident
 

पटियाला हाउस कोर्ट हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट: 'बेवजह बयानबाजी से बचे वकील'

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 February 2016, 13:48 IST

पटियाला हाउस कोर्ट में वकीलों द्वारा सोमवार और बुधवार को पत्रकारों और छात्रों के साथ की गई हिंसा को लेकर गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि कोर्ट इस मामले में कानून व्यवस्था पर नजर रख रही है और वकीलों को बेवजह बयानबाजी से बचना चाहिए.

जेएनयू विवाद: छात्रों की रैली में हिंसा होने की संभावना

वहीं गुरुवार को दिल्ली हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जरनल और सुप्रीम कोर्ट का पैनल अपनी रिपोर्ट दाखिल करेगा. कोर्ट ने बुधवार को हुई हिंसा के बाद वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण, राजीव धवन, कपिल सिब्बल सहित पांच लोगों का पैनल बनाया था.

दूसरी ओर वकीलों के हंगामे और मारपीट के मामले में बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष ने माफी मांगी है. इसके साथ ही उन्होंने इस मामले में शामिल वकीलों का रजिस्ट्रेशन रद्द करने की भी बात कही है.

जेएनयू विवाद: एबीवीपी के तीन पदाधिकारियों ने कन्हैया के समर्थन में छोड़ा संगठन

बार काउंसिल अध्यक्ष ने कहा कि पटियाला हाउस कोर्ट में जो हुआ वह शर्मनाक है. घटना में जो भी वकील शामिल थे उनका रजिस्ट्रेशन रद्द किया जाएगा.

First published: 18 February 2016, 13:48 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी