Home » इंडिया » JNU Row: Vikram singh Chauhan profile
 

आज तक का खुलासा: कन्हैया को जान से मारने की फिराक में वकील

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 February 2016, 21:26 IST

पटियाला हाउस कोर्ट में छात्रों और पत्रकारों पर हुए हमले में वकील विक्रम सिंह चौहान का नाम प्रमुखता से आया है. कोर्ट में हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने जिन तीन लोगों को समन भेजा था उसमें चौहान का भी नाम था.

आज तक चैनल द्वारा किए गए एक स्टिंग ऑपरेशन में यह बात सामने आई है कि वकीलों ने सुनियोजित साजिश करके कन्हैया के ऊपर हमला किया. आज तक के खुफिया कैमरे पर आरोपी वकील विक्रम चौहान कहता है, 'हमने कन्हैया को कोर्ट रूम में जमकर पीटा. उसे भारत माता की जय बोलने के लिए मजबूर किया. उसने बोला भारत माता की जय. हमने उसे इतना पीटा की उसने पैंट में पेशाब कर दिया.'

एक अन्य वकील यशपाल कैमरे पर कहते हुए पाया गया कि वो एक बार फिर से कन्हैया पर हमला करेंगे. वे कन्हैया पर पेट्रोल बम से हमला करेंगे. चाहे भले ही उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज हो जाय. साथ ही यशपाल ने विक्रम चौहान की बात की पुष्टि करते हुए कहा- 'हमने तीन बार कोर्टरूम में उसे गिराकर मारा. उसने पैंट में पेशाब कर दिया.'

शिक्षकों, छात्रों और पत्रकारों पर हमला करने के आरोपी चौहान ने एक फेसबुक पोस्ट में वकीलों और लोगों से कोर्ट पहुंचने की अपील की थी.

एक निजी चैनल में बातचीत में चौहान ने कहा है, 'मैंने ही कन्हैया मामले की सुनवाई के दौरान दूसरे लोगों को कोर्ट पहुंचने के लिए कहा था ताकि नारे लगाने वालों को सबक सिखाया जा सके. वकील भी भारतीय नागरिक होते हैं. कोई भी इस बात की इजाजत कैसे दे सकता है कि देश में भारत विरोधी नारेबाजी या पाक समर्थक नारे लगाए जाएं.'

इसके अलावा चौहान ने शुक्रवार को नई दिल्ली में हुए वकीलों के मार्च का नेतृत्व भी किया था. वकीलों के हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार के बावजूद वकीलों ने चौहान को दिल्‍ली के एक कोर्ट में माला पहनाकर सम्‍मानित किया ग था.

विक्रम चौहान बीजेपी नेताओं का करीबी है. बीजेपी के बड़े नेताओं के साथ उसकी तस्वीरें भी सामने आई हैं. उसने बीजेपी नेताओं के साथ तस्वीरें अपने फेसबुक वॉल पर डाली है.

First published: 22 February 2016, 21:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी