Home » इंडिया » JNU Violence: You must know what Asaduddin Owaisi said on matter
 

JNU हमले पर असदुद्दीन ओवैसी ने कहा- हमलावरों को मिली थी सत्ता से हरी झंडी

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 January 2020, 15:22 IST

JNU Attack: जवाहर लाल नेहरू विश्विद्यालय में रविवार की शाम छात्रों और फैकल्टी पर हमले की खबर सामने आने के बाद विवाद मचा हुआ है. जेएनयू हमले पर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने घटना की कड़ी निंदा की है. ओवैसी ने हिंसा के बाद वहां के विद्यार्थियों के साथ एकजुटता व्यक्त की.

ओवैसी ने कहा कि यह ‘क्रूर हमला' विद्यार्थियों को दंडित करने के लिए है, क्योंकि उन्होंने उठ खड़े होने की जुर्रत की. उन्होंने ट्वीट किया, "जेएनयू के बहादुर विद्यार्थियों के साथ एकजुटता के लिए . यह क्रूर हमला जेएनयू विद्यार्थियों को दंडित करने लिए है क्योंकि उन्होंने उठ खड़े होने की जुर्रत की. यह इतना बुरा है कि केंद्रीय मंत्री भी असहाय की तरह ट्वीट कर रहे हैं. मोदी सरकार को जवाब देना चाहिए कि पुलिसकर्मी गुंडों का पक्ष क्यों ले रहे हैं."

उनकी पार्टी की तरफ से भी मामले में ट्वीट किया गया कि AIMIM जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों के साथ खड़ा है और विद्यार्थियों की आवाज से कौन डरा महसूस कर रहा है? बता दें कि नकाबपोश हमलावरों ने कैंपस में घुसकर छात्रों पर हमला किया था और हॉस्टल में तोड़फोड़ की थी. हमले के लिए लेफ्ट और एबीवीपी एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप कर रहे हैं. 

पाकिस्तान ने 20 भारतीय मछुआरों को जेल से किया रिहा, वाघा सीमा के जरिए आएंगे भारत

JNU में जमकर बवाल, छात्रों ने सुनाई खौफनाक आपबीती- नकाबपोश गुंडों ने रॉड से तोड़े हाथ-पैर

First published: 6 January 2020, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी