Home » इंडिया » Journalist Vinod Verma arrested by Chhattisgarh Police from his home at Indirapuram in Ghaziabad over a case of blackmailing & extortion
 

पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी पर रायपुर पुलिस ने दी सफाई

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 October 2017, 12:30 IST

वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस सवालों के घेरे में आ गई है. छत्तीसगढ़ पुलिस ने इस सिलसिले में शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

इसमें छत्तीसगढ़ पुलिस ने बताया कि उसे विनोद वर्मा की गिरप्तारी के दौरान उनके घर से 500 सीडी मिली हैं. इस मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने फिलहाल ज्यादा जानकारी देने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि इस मामले की अभी जांच चल रही है. छत्तीसगढ़ पुलिस ने बताया कि उसने ये कार्रवाई यूपी और दिल्ली पुलिस की टीम के साथ मिलकर की है.

गौरतलब है कि शुक्रवार तड़के छत्तीसगढ़ पुलिस ने यूपी पुलिस के साथ मिलकर विनोद वर्मा को इंदिरापुरम में उनके घर से गिरफ्तार किया. विनोद वर्मा पर वसूली और धमकाने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. वहीं यूपी पुलिस ने कहा कि गिरफ्तारी से उसका कोई लेना-देना नहीं है. ये छत्तीसगढ़ का मामला है.

इससे पहले रायपुर पुलिस ने बयान जारी कर कहा कि 26 अक्टूबर को प्रकाश बजाज ने पिंडरी थाने में धमकी दिए जाने की शिकायत दर्ज कराई थी. इस धमकी में कहा गया था कि तुम्हारे आका का अश्लील वीडियो हमारे पास है. धमकी देने वाले ने पैसे मांगे थे और नहीं देने पर सीडी वितरित करने की धमकी दी थी. प्रकाश को मंत्री का नजदीकी बताया जा रहा है.

इस मामलें एक दुकान पर छापा मारने पर पुलिस को लगभग 1000 सीडी की कॉपी मिली. इसके साथ ही पुलिस को वीडियो भी मिला है जिससे ये सीडी बनाई गई. इसने बताया कि विनोद वर्मा नाम के व्यक्ति ये सीडी बनवाईं है.

गौरतलब है कि विनोद वर्मा बीबीसी और अमर उजाला में वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं. विनोद वर्मा एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के सदस्य भी हैं. विनोद वर्मा इन दिनों छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के सोशल मीडिया प्रभारी हैं.

First published: 27 October 2017, 12:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी