Home » इंडिया » Journalist VinodVerma sent on transit remand by a Ghaziabad Court, He will be presented before a Chhattisgarh court by raipur police
 

छत्तीसगढ़ पुलिस को मिली पत्रकार विनोद वर्मा की ट्रांजिट रिमांड

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 October 2017, 16:45 IST

वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा की गिरफ्तारी के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस ने उन्हें ग़ाज़ियाबाद की सीजेएम कोर्ट में पेश किया. सीजेएम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ पुलिस को विनोद वर्मा की ट्रांजिट रिमांड दे दी है. विनोद वर्मा की ट्राजिंट रिमांड मिलने के बाद पुलिस उन्हें छत्तीसगढ़ ले जा रही है. अब विनोद वर्मा की पेशी छत्तीसगढ़ की कोर्ट में होगी. इससे पहले गिरप्तारी के बाद वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा ने कहा कि उनके पास छत्तीसगढ़ के एक मंत्री की सीडी है. मंत्री की सीडी होने की वजह से छत्तीसगढ़ सरकार मुझसे खुश नहीं है और मुझे फंसाया जा रहा है.

विनोद वर्मा ने इसी के साथ खुलासा किया सीडी कांड में शामिल मंत्री का नाम राजेश राजेश मूणत है. उन्होंने कहा कि इस सीडी से उनका कोई वास्ता नहीं है. पुलिस को उनके घर से एक पेन ़ड्राइव मिली है. गौरतलब है कि शुक्रवार तड़के तीन बजे छत्तीसगढ़ पुलिस ने यूपी पुलिस के साथ मिलकर विनोद वर्मा को इंदिरापुरम में उनके घर से गिरफ्तार किया. विनोद वर्मा पर वसूली और धमकाने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. वहीं यूपी पुलिस ने कहा कि गिरफ्तारी से उसका कोई लेना-देना नहीं है. ये छत्तीसगढ़ का मामला है.

विनोद वर्मा की गिरफ्तारी के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें रायपुर पुलिस ने बताया कि उसे विनोद वर्मा की गिरप्तारी के दौरान उनके घर से 500 सीडी मिली हैं. पुलिस ने बताया कि विनोद वर्मा के घर से करीब 2 लाख रुपये कैश भी जब्त किया है. हालांकि छत्तीसगढ़ पुलिस ने फिलहाल ज्यादा जानकारी देने से इनकार कर दिया. उन्होंने कहा कि इस मामले की अभी जांच चल रही है. 

पुलिस ने ये कार्रवाई 26 अक्टूबर को प्रकाश बजाज नामक शख्स ने पिंडरी थाने में धमकी दिए जाने की शिकायत दर्ज कराने के बाद की. प्रकाश को दी गई इस धमकी में कहा गया था कि तुम्हारे आका का अश्लील वीडियो हमारे पास है. धमकी देने वाले ने पैसे मांगे थे और नहीं देने पर सीडी वितरित करने की धमकी दी थी. प्रकाश को मंत्री का नजदीकी बताया जा रहा है.

रायपुर पुलिस का कहना है कि एक दुकान पर छापा मारने पर पुलिस को लगभग 1000 सीडी की कॉपी मिली. इसके साथ ही पुलिस को वीडियो भी मिला है जिससे ये सीडी बनाई गई. पूछताछ में दुकान वाले ने बताया कि विनोद वर्मा नाम के व्यक्ति ये सीडी बनवाईं है.

हम आपको बता दें कि विनोद वर्मा एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के सदस्य हैं. इससे पहले विनोद वर्मा बीबीसी और अमर उजाला में वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं. विनोद वर्मा इन दिनों छत्तीसगढ़ कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के सोशल मीडिया प्रभारी हैं. 

First published: 27 October 2017, 16:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी