Home » इंडिया » Judge wants to VRS after HC stays his order in solar scam
 

जज ने मांगा वीआरएस : दिया था चांडी के खिलाफ FIR दर्ज करने का आदेश

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 January 2016, 15:46 IST

सीएम ओमन चांडी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश देने वाले जज एसएस वासन ने वीआरएस की मांग की है.

केरल के चर्चित सोलर कांड में शुक्रवार को केरल हाईकोर्ट ने मामले में दायर की गई याचिका में सुनवाई करते हुए सीएम ओमन चांडी और ऊर्जा मंत्री अरायादान मोहम्मद को राहत दे दी. इसके साथ ही कोर्ट ने त्रिशूर की सतर्कता कोर्ट के एफआईआर दर्ज करने के आदेश पर 2 महीने का स्टे दे दिया.

हाईकोर्ट ने इस फैसले में न केवल जज वासन के दिये फैसले पर रोक लगाई बल्कि उनके आदेश के खिलाफ प्रतिकूल टिप्पणी भी की. 

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, जज वासन ने हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार को ई-मेल भेज कर 31 मई के बाद वीआरएस लेने की इच्छा जतायी है. उन्होंने इसके लिए व्यक्तिगत कारणों का हवाला दिया है. जबकि जज वासन का 2 साल कार्यकाल अभी बाकी है.

इस मामले में इस बात कि संभावना जताई जा रही है कि चांडी के पक्ष में फैसले में हाईकोर्ट की प्रतिकूल टिप्पणी से वासन आहत हैं.

हाईकोर्ट ने इस मामले में सुनवाई के दौरान चांडी और ऊर्जा मंत्री अरायादान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के त्रिशूर की सतर्कता अदालत के फैसले पर रोक लगाते वक्त वासन की खिंचाई भी की थी.

हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि 'बिना सबूत सतर्कता कोर्ट जज ने सीएम पर एफआईआर दर्ज करने को कह दिया, जो बिल्कुल भी सही नहीं था. जज को अपने अधिकार नहीं पता. ऐसे जज के साथ कोर्ट सही तरीके से कैसे चल सकता है? इस बात को आगे भी व्यवहार में लाया जाए और बिना सबूत के ऐसी कार्रवाई न की जाए'.

First published: 30 January 2016, 15:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी