Home » इंडिया » Justice Dhingra: Got more docs yesterday, want to go through them before submitting report
 

जस्टिस धींगरा: हुड्डा जी से पूछिए कि क्या वो डरे हुए हैं?

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 July 2016, 14:34 IST

हरियाणा में रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी समेत कुछ जमीन सौदों की जांच कर रहे जस्टिस एसएन धींगरा आयोग ने रिपोर्ट सौंपने के लिए छह से आठ हफ्तों की मोहलत मांगी है. आयोग का कार्यकाल 30 जून तक ही था.

जस्टिस धींगरा ने कहा है, "गुरुवार को कुछ और दस्तावेज मिले हैं. रिपोर्ट सौंपने से पहले उनकी छानबीन करना चाहता हूं. इसलिए थोड़ा और वक्त मांगा है."

इस मामले में हरियाणा के पूर्व सीएम भूपिंदर सिंह हुड्डा भी सवालों के घेरे में हैं. जस्टिस धींगरा ने कहा कि उन्हें जांच के लिए कुछ और समय लेने में कोई डर नहीं है. जस्टिस धींगरा ने कहा, "आप इस बारे में हुड्डा जी से पूछिए कि क्या वह डरे हुए हैं."

फेसबुक पर वाड्रा ने बयां किया दर्द

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी के अलावा दूसरी कंपनियों के गुड़गांव और आस-पास के इलाकों में जमीन सौदों की जांच के लिए गठित जस्टिस धींगरा आयोग का कार्यकाल गुरुवार को  पूरा हो गया था.

इस बीच रॉबर्ट वाड्रा ने आरोप लगाया है कि उन्हें 10 साल से जमीन सौदे के मामले में जबरन घसीटा जा रहा है. फेसबुक पोस्ट के जरिए वाड्रा ने अपना दर्द बयां करते हुए कहा कि वह इससे घबराने वाले नहीं हैं.

वाड्रा ने फेसबुक पर खुद की छवि को पाक-साफ बताते हुए लिखा, "लगभग एक दशक से सरकारें मुझ पर झूठे और तर्कहीन आरोप लगाती रही हैं. वह बिना सबूत कुछ भी साबित नहीं कर सकते हैं और साबित करने के लिए कुछ है भी नहीं."

वाड्रा ने आगे लिखा, "मैं जानता हूं कि मेरा इस्तेमाल हमेशा राजनीतिक लाभ के लिए किया जाएगा, लेकिन मैं ऐसे समय में सच्चाई के साथ सिर ऊंचा करके चलूंगा. यही मेरे लिए बनाई गई गलत धारणाओं पर मुझे जीत दिलाएगा."

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा का फेसबुक पोस्ट (फेसबुक)

हरियाणा और राजस्थान में जमीन घोटाले के आरोपों में फंसे वाड्रा हमेशा से बीजेपी के निशाने पर रहे हैं. हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय ने वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी को मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में नोटिस भेजा है.

राजस्थान के बीकानेर में कंपनी द्वारा खरीदी गई प्रॉपर्टी के मालिकाना हक को ट्रांसफर करने से यह मामला जुड़ा है. पिछले महीने ही वाड्रा की जमीन से जुड़े मामले में ईडी ने छापेमारी की थी. प्रवर्तन निदेशालय ने बीकानेर में सात जगहों पर छापेमारी की थी.

बीकानेर की कोलायत तहसील में 275 बीघा जमीन के गलत ढंग से आवंटन का आरोप है. इस जमीन का एक हिस्सा वाड्रा की कंपनी ने खरीदा था.

इस बीच बीजेपी सांसद किरीट सोमैया ने रॉबर्ट वाड्रा पर एक बार फिर हमला बोला है. सौमैया ने कहा, "जस्टिस धींगरा अच्छा काम कर रहे हैं. बहुत सी चीजें सामने आने वाली हैं. आयोग को ज्यादा समय देने पर हरियाणा सरकार को विचार करना चाहिए."

सोमैया ने साथ ही कहा, "रॉबर्ट वाड्रा के घोटाले अब पूरी तरह खुल चुके हैं. मुझे पूरा भरोसा है कि गुड़गांव में लैंड डील के बारे में भी सच सामने आएगा. धींगरा आयोग की वजह से वाड्रा की कई छिपे हुए सौदों का पता चलेगा.मुझे लगता है कि आयोग को और वक्त दिया जाना चाहिए."

First published: 1 July 2016, 14:34 IST
 
अगली कहानी