Home » इंडिया » Justice Dhingra inquiry commission submits its report in connection with Vadra land deal case to Haryana Govt
 

हरियाणा: जस्टिस धींगरा कमीशन ने सौंपी रिपोर्ट, हुड्डा-वाड्रा पर कार्रवाई की सिफारिश!

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 September 2016, 18:17 IST

हरियाणा में रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी की लैंड डील समेत कई जमीन सौदों की जांच कर रहे जस्टिस धींगरा आयोग ने अपनी रिपोर्ट राज्य सरकार को सौंप दी है.

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा जमीन सौदों को लेकर विपक्ष के निशाने पर रहे हैं. सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि धींगरा कमीशन ने रिपोर्ट में हरियाणा की तत्कालीन हुड्डा सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया है. हालांकि अभी रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गई है.

182 पन्नों की जस्टिस धींगरा रिपोर्ट

सूत्रों के मुताबिक 182 पन्नों की रिपोर्ट में राज्य की तत्कालीन हुड्डा सरकार को कठघरे में खड़ा किया गया है. साथ ही बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी स्काईलाइट हॉस्पिटैलिटी के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की गई है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जस्टिस धींगरा ने कहा, "मेरी रिपोर्ट दो हिस्सों में है. पहले हिस्से में निष्कर्ष है, जबकि दूसरे हिस्से में सबूतों का जिक्र है." 

रिपोर्ट सार्वजनिक करने से इनकार

हालांकि रिपोर्ट सार्वजनिक करने से इनकार करते हुए जस्टिस धींगरा ने कहा, "मैं अभी रिपोर्ट के अंदर क्या है इस पर कोई बात नहीं कर सकता, जब तक राज्य सरकार इसे सार्वजनिक करने का फैसला नहीं लेती."

जस्टिस धींगरा ने कहा कि मेरा काम लाइसेंस देने में हुई अनियमितता की जांच करना था. मैंने उन तथ्यों पर प्रकाश डाला है, जिसके तहत अनियमितता की गई और इसके पीछे कौन लोग शामिल थे.

जस्टिस धींगरा ने साथ ही कहा, "अगर कोई अनियमितता नहीं हुई होती, तो मैं 182 पन्नों की रिपोर्ट को क्यों सौंपता?"

'खेमका को बुलाना जरूरी नहीं समझा'

जस्टिस धींगरा ने रिपोर्ट सौंपने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि यह रिपोर्ट एक विस्तृत रिपोर्ट है, जिसमें सारे तथ्यों की जानकारी दी गई है.

वहीं आईएएस अफसर अशोक खेमका को नहीं बुलाने के सवाल पर जस्टिस धींगरा ने कहा, "मुझे अशोक खेमका को बुलाना होता तो बुला लेता. जिसे जरूरी समझा उसे मैंने बुला लिया."

फाइल फोटो

'कहीं भाग नहीं रहा'

इस बीच एक समाचार चैनल के मुताबिक रॉबर्ट वाड्रा ने एक बयान जारी करके कहा है कि मैं कहीं भाग नहीं रहा हूं, सारी चुनौतियां का सामना करूंगा.

जस्टिस धींगरा रिपोर्ट पर रॉबर्ट वाड्रा ने कहा, "किसी ने मुझसे बात नहीं की है. इस मुद्दे पर मेरी कंपनी से भी बात नहीं की गई है. मैं कहीं भाग नहीं रहा हूं. सारी चुनौतियों का सामना करूंगा. ये राजनीतिक विच हंट है. ये नहीं तो कोई और मामला खड़ा करेंगे. रिपोर्ट देखने के बाद आधिकारिक बयान जारी करूंगा."

वाड्रा लैंड डील में अब तक

  • 14 मई, 2015 को हरियाणा सरकार ने बनाया धींगरा आयोग
  • गुड़गांव और आसपास के ज़मीन सौदों की जांच के लिए आयोग
  • गुड़गांव का सेक्टर 83, शिकोहपुर, सिकंदरपुर, खेड़की दौला, सिही
  • वाड्रा की स्काई लाइट हॉस्पिटैलिटी ने 7.5 करोड़ में ख़रीदी ज़मीन
  • लैंड यूज़ बदलने के बाद कंपनी ने 55 करोड़ में बेची ज़मीन
  • 31 अगस्त 2016 को धींगरा आयोग ने 182 पन्नों की सौंपी रिपोर्ट
  • आयोग ने रिपोर्ट में हुड्डा सरकार को ठहराया ज़िम्मेदार: सूत्र
  • जमीन सौदों में सरकारी नियम-क़ायदे ताक़ पर रख देने का आरोप
  • रॉबर्ट वाड्रा की ली गई ज़मीन का लैंड यूज़ बदलने का आरोप
  • खेती की ज़मीन को कारोबार के लिए इस्तेमाल करने का आरोप

First published: 1 September 2016, 18:17 IST
 
अगली कहानी