Home » इंडिया » Justice (retired) Leila Seth, first woman chife justice of the High Court, passes away at her residence in Noida
 

भारत में हाईकोर्ट की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश लीला सेठ का निधन

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 May 2017, 18:01 IST
(जस्टिस लीला सेठ)

भारत में हाईकोर्ट की मुख्य न्यायाधीश बनने वाली पहली महिला लीला सेठ का शनिवार को 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया. 5 मई की रात को उन्‍होंने नोएडा स्थित अपने घर में अंतिम सांस ली. लीला सेठ जाने-माने लेखक विक्रम सेठ की मां भी हैं. लीला सेठ का जन्म वर्ष 1930 में लखनऊ में हुआ था.

पूर्व महिला जस्टिस लीला सेठ के शरीर का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा. उनकी इच्‍छा के अनुसार, उनके पार्थिव शरीर को वैज्ञानिक शोध के लिए प्रयोग किया जाएगा. लीला सेठ भारत की पहली महिला थीं जिन्होंने 1958 में लंदन बार की परीक्षा पास की थी. 

जुलाई 1978 में लीला सेठ को न्यायाधीश की शपथ दिलाई गई और अगले ही वर्ष उन्हें दिल्ली हाईकोर्ट में नियुक्त किया गया. इसके साथ ही वे भारत में किसी हाईकोर्ट में पहली महिला न्यायाधीश बनीं. बाद में पदोन्नति मिलने पर साल 1992 में लीला सेठ को हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायायल का मुख्य न्यायाधीश बनाया गया. भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ था जब किसी महिला को किसी उच्च न्यायालय में मुख्य न्यायाधीश बनने का अवसर मिला.

लीला सेठ साल 2012 में बनाई गई जस्टिस वर्मा समिति की भी सदस्य थीं जिसे दिल्ली के निर्भया बलात्कार कांड के बाद कानून में बदलाव संबंधी सुझाव देने के लिए गठित किया गया था. सेठ हिंदू उत्‍तराधिकार कानून में बदलाव कराने में प्रमुख रूप से शामिल थीं, जिसके जरिए बेटियों को पारिवारिक संपत्ति में हिस्‍से का अधिकार मिला.

First published: 6 May 2017, 18:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी