Home » इंडिया » K Sivan made it clear ISRO has not been privatized
 

के सिवन ने किया साफ- ISRO का नहीं हुआ है प्राइवेटाइजेशन, कहा- कोई भ्रम मत रखिए

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 August 2020, 18:30 IST

ISRO: पिछले कुछ दिनों से खबरें आ रही थीं कि भारतीय स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन यानि ISRO का निजीकरण कर दिया गया है. इसे लेकर अब इसरो चीफ के सिवन ने सफाई दी है. के सिवन ने साफ किया है कि ISRO का प्राइवेटाइजेशन नहीं किया गया है. उन्होंने कहा है कि इसरो को लेकर कई तरह के भ्रम फैले हुए हैं.

इसरो चीफ ने कहा कि वह साफ कर देना चाहते हैं कि इसरो का कोई प्राइवेटाइजेशन नहीं हुआ है. उन्होंने बताया कि पूरी व्यवस्था में प्राइवेट सेक्टर के लोगों को स्पेस एक्टिविटी में शामिल करने की कवायद चल रही है. ये काम इसरो ही कर रहा है. इससे भारत के स्पेस सेक्टर में सुधार आएगा.

के सिवन ने कहा कि सरकार स्पेस सेक्टर में काफी सुधार कर रही है. यह भविष्य में स्पेस सेक्टर में गेमचेंजर साबित होने जा रहे हैं. सिवन ने Unlocking India's Potential in Space Sector नाम के एक सेमिनार में भाग लेते हुए यह बातें कहीं.

हजारों साल तक खड़ा रहेगा राम मंदिर, कुछ नहीं बिगाड़ पाएगी भूकंप या कोई प्राकृतिक आपदा

बता दें कि इसरो अपने चंद्रयान-2 मिशन को लेकर एक बार फिर उत्साहित है. इसरो को कुछ दिनों पहले नासा से कुछ तस्वीरें मिली हैं. इससे इसरो को उम्मीद जगी है कि चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग के दौरान क्रैश हो चुका लैंडर विक्रम अभी भी काम कर रहा है. लैंडिंग फेल होने के दस महीने बाद नासा की तस्वीरों से इसरो की उम्मीदों को बल मिला है.

राहुल गांधी ने कहा- मीडिया मेरा मजाक उड़ा ले, 6-7 महीने बाद देश युवाओं को रोजगार नहीं दे पाएगा

बिहार चुनाव से पहले जीतन राम मांझी ने छोड़ा महागठबंधन, फिर मिला सकते हैं नीतीश कुमार से हाथ

First published: 20 August 2020, 18:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी