Home » इंडिया » Kailash Mansarovar yatra will be expensive via Nepal
 

नेपाल के रास्ते कैलाश मानसरोवर यात्रा जाना अब होगा महंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2019, 16:20 IST

Kailas Mansarovar Yatra: कैलास मानसरोवर यात्रा महंगी होने जा रही है. दरअसल, अगर कोई नेपाल के रास्ते चीन होते कैलास मानसरोवर की यात्रा करने चाहता है उसे अब पहले से अधिक पैसे चुकाने होंगे. क्योंकि चीन ने अपने रेट में भारी-भरकम वृद्धि की है. इस वृद्धि से जहां कैलास मानसरोवर यात्रियों को ज्यादा पैसा चुकाना पड़ेगा वहीं चीन के इस रुख से नेपाल का पर्यटन उद्योग भी चिंतित दिख रहा है.

एक अनुमान के मुताबिक, हर साल इस रास्ते करीब 20 हजार भारतीय श्रद्धालु कैलास मानसरोवर जाते हैं. इसी रास्ते जाने वाले भारतीय श्रद्धालुओं के लिए चीन ने अपना रेट बढ़ा दिया है. इससे पहले नेपाल पर्यटन से जुड़े लोग एक भारतीय पर्यटक से केरुग के रास्ते मानसरोवर के लिए एक लाख 30000 रुपए चुकाते थे.

वहीं ल्हासा से मानसरोवर के लिए 2 लाख 30000 रुपये और हुमला से मानसरोवर के लिए एक लाख 70000 रुपये यात्रा खर्च आता था. लेकिन अब चीन के नए रुख से केरुग के रास्ते कैलास मानसरोवर की यात्रा पर जाने के लिए भारतीय तीर्थ यात्रियों को एक लाख 85000 रुपये चुकाने होंगे. वहीं ल्हासा के रास्ते कोई कैलास मानसरोवर की यात्रा करता है तो उसे तीन लाख 10000 रुपये और हुमला के रास्ते से 2 लाख 60000 रुपये देने होंगे.

नेपाल कैलास यात्रा संघ के अध्यक्ष नारायण पोखरेल का कहना है कि इस यात्रा के लिए चीन हर साल रेट में 10 फीसदी की बढ़ोतरी करता है, लेकिन इस बार यह वृद्धि 40 फीसदी कर दी गई है. बता दें कि भारत से हर साल करीब 20 हजार यात्री नेपाल के इन तीन रास्तों से चीन होते हुए कैलास मानसरोवर की यात्रा करते हैं. उनका कहना है कि अब रकम अधिक बढ़ जाने के कारण कैलास मानसरोवर जाने वाले भारतीयों की संख्या में कमी आ सकती है. जिसका असर नेपाल पर्यटन से जुड़े लोगों को भी उठाना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें-

गूगल प्ले स्टोर से अमरिंदर सिंह ने हटवाया ये भारत विरोधी App

बिहार: NRC के मुद्दे पर आपस में भिड़े भाजपा और जदयू, प्रशांत किशोर ने BJP पर साधा निशाना

भोपाल: खुशवंत सिंह की इस उपन्यास को अश्लील बताकर रेलवे अधिकारी ने स्टॉल से हटवाया

First published: 21 November 2019, 15:12 IST
 
अगली कहानी