Home » इंडिया » Kamlesh Tiwari Murder Case: suspect busted through fake Facebook account
 

कमलेश तिवारी हत्याकांड में बड़ा खुलासा, फर्जी फेसबुक अकांउट के जरिए संदिग्ध ने फंसाया

न्यूज एजेंसी | Updated on: 21 October 2019, 18:10 IST

हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या का एक प्रमुख संदिग्ध उनसे एक फर्जी फेसबुक अकांउट के जरिए मित्र बना था. उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स सूत्रों के अनुसार, उनके गुजरात के समकक्षों ने पाया कि हमलावारों में से एक की पहचान अशफाक हुसैन के रूप में हुई है, उसने 'रोहित सोलंकी' के नाम से अकांउट बनाया और तिवारी से दोस्त बना.

तिवारी ने सोलंकी से 18 अक्टूबर को मिलने की सहमति जताई थी. 18 अक्टूबर को तिवारी की हत्या हुई. हुसैन व मोइनुद्दीन पठान की मुख्य हमलावरों के रूप में पहचान की गई है. उनकी पहचान की पुष्टि जिस होटल में वे ठहरे थे उसके सीसीटीवी फुटेज के जरिए की गई है और पुलिस ने उनके कमरे से खून के धब्बों वाला कपड़ा व एक तौलिया बरामद किया है.

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओ.पी.सिंह ने इससे पहले कहा था कि आरोपी तिवारी को जानते थे क्योंकि उन्होंने मिठाई उपहार देने के बहाने उनके (तिवारी) साथ 30 मिनट बिताया था. गुजरात पुलिस व उत्तर प्रदेश पुलिस की एक संयुक्त टीम ने सूरत से मौलाना मोहसिन शेख, खुर्शीद अहमद पठान व फैजान तीन सह-आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

अहमदाबाद की एक अदालत ने उन्हें 72 घंटे ट्रांसिट रिमांड दी है और उनके सोमवार को लखनऊ कोर्ट में प्रस्तुत किए जाने की संभावना है. तिवारी ने जनवरी 2017 में हिंदू समाज पार्टी का गठन किया था और उन्हें विवादास्पद टिप्पणियों के लिए जाना जाता था. साल 2015 में पैगंबर मोहम्मद के बारे में विवादास्पद बयान देने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया और उन पर नेशनल सिक्युरिटी एक्ट (एनएसए) लगाया गया था.

उत्तर प्रदेश में इस महीने दक्षिण पंथी नेता की यह चौथी हत्या है. 8 अक्टूबर को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता चौधरी यशपाल सिंह की देवबंद में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इसी तरह से बस्ती में भाजपा नेता कबीर तिवारी की 10 अक्टूबर को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

कांग्रेस के दिग्गज प्रवक्ता ने सावरकर की तारीफ में जो कहा, उसे सुनकर भड़क सकता हैं पार्टी आलाकमान

भारतीय सेना ने PoK में मचाई तबाही, अब घटियापन पर उतारू हुआ पाकिस्तान, फैलाई ये झूठी खबर

First published: 21 October 2019, 18:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी