Home » इंडिया » Kanhaiya Kumar insulted the national anthem, last two lines singing wrong
 

कन्हैया कुमार राष्ट्रगान गाते-गाते कर गए झोल ! लोग बोले- पाकिस्तान का दलाल देश तोड़ रहा

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 February 2020, 13:10 IST

जेएनयू(JNU) के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार(Kanhaiya Kumar) पर देशद्रोही होने का आरोप लगता रहता है. उन्होंने आज पटना के गांधी मैदान में एक महारैली की. पटना के गांधी मैदान में आयोजित महारैली में कन्हैया कुमार ने CAA को काला कानून बताया. कन्हैया ने केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा.

रैली का नाम संविधान बचाओ नागरिकता बचाओ महारैली था. इस दौरान कन्हैया एक बार फिर ऐसी गलती कर गए कि उन्हें सोशल मीडिया में फिर देशद्रोही कहा जाने लगा है. दरअसल, जनसभा के दौरान राष्ट्रगान ही वह भूल गए और आखिरी दो लाइन में झोल कर गए.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, भाषण की शुरुआत करने से पहले कन्हैया कुमार ने मैदान में मौजूद लोगों से खड़े होकर राष्ट्रगान गाने की अपील की. इसके बाद राष्ट्रगान शुरू किया गया, लेकिन विवाद तब हो गया जब राष्ट्रगान के अंतिम दो लाइन में कन्हैया ने 'जन गण मंगल' के बदले 'जन मन गण' गा दिया. इसके बाद सोशल मीडिया में लोगों ने उन्हें गद्दार कहना शुरू कर दिया है.

इसके अलावा कन्हैया जब भाषण देने जा रहे थे इससे पहले भी एक विवाद हुआ. मंच पर एक 6-7 साल के मासूम बच्चे ने पहले तो देश के मौजूदा हालात पर चार पंक्तियां सुनाई, इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध में 'नरेंद्र मोदी मुर्दाबाद' के नारे लगाने शुरू कर दिए.

 

छोटे बच्चे के मुंह से प्रधानमंत्री के खिलाफ नारे सुनने के बाद कुछ लोगों ने इस पर अपनी असहमति जताई, मगर कन्हैया कुमार ने इस बच्चे को अपने पास बुलाया और गले लगा लिया. जिसे लेकर भी लोग कन्हैया पर निशाना साध रहे हैं. लोग कह रहे हैं कि मुद्दों पर असहमति ठीक है लेकिन प्रधानमंत्री के लिए एक मासूम से ऐसे नारे नहीं लगवाने चाहिए थे.

बता दें कि इस जनसभा में कन्हैया ने गृहमंत्री अमित शाह पर भी जमकर तंज कसा. जेएनयू के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ने दिल्‍ली हिंसा के लिए राजनीतिक दलों को दोषी ठहराया. इस महारैली में महात्मा गांधी के परपोते तुषार गांधी, सामाजिक कार्यकर्ता मेधा पाटकर, आइशी घोष ( जेएनयू छात्र संघ), अलका लांबा, कन्नन गोपीनाथन, नजीब की मां फातिमा नफीस एवं रोहित वेमुला की मां राधिका वेमुला भी मौजूद थीं.

बिहार: विधानसभा चुनाव से पहले नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव की मुलाकात से सकते में BJP

दिल्ली हिंसा: रातभर जागते रहते हैं लोग कि कहीं कोई पेट्रोल बम न फेंक दे, जानिए खौफनाक आपबीती

First published: 28 February 2020, 13:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी