Home » इंडिया » Kargil Vijay Diwas 2018: More than 527 soldier got martyr and 1300 injured
 

Kargil Vijay Diwas 2018: जब 18 हजार फीट की ऊंचाई पर सेना ने फहराया तिरंगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2018, 9:19 IST

आज से 19 साल पहले भारतीय सेना ने भारत में घुसपैठ करने वाले दुश्मनों को धूल चटा दी थी. आज ही के दिन आज से 19 साल पहले 26 जुलाई 1999 को भारत ने कारगिल युद्ध में जीत दर्ज की थी. करीब दो महीने तक चले इस कारगिल युद्ध में देश ने 527 से ज्यादा वीर सपूतों को खो दिया. वहीं 1300 सैनिक देश की रक्षा करने में बुरी तरह घायल हुए.

 

इतिहास में जाएं तो पकिस्तान ने इसकी तैयारी काफी समय पहले से शुरू कर दी थी. 3 मई 1999 को पाकिस्तान ने कारगिल की पहाड़ियों पर अपने सैनिकों को भेज कर घुसपैठ की. करीब 5000 पाकिस्तानी सैनिक भारत में घुसपैठ कर चुके थे. जानकारी मिलने पर भारत सेना ने तुरंत ही देश की सीमा को सुरक्षित करने के लिए ऑपरेशन विजय चलाया. जिसमें 30,000 भारतीय सैनिक शामिल थे.

भारतीय वायुसेना ने भी इस युद्ध में पाकिस्तान की सेना को धूल चटा दी. पाकिस्तान ने धोखे से घुसपैठ करके जहां भोई कहीं कब्जा किया था भारतीय सेना ने वायुसेना की मदद से उन जगहों पर बम गिरा कर पकिस्तान सेना का नामोनिशान मिटा दिया था. भारतीय सेना ने पाकिस्तान के खिलाफ मिग-27 और मिग-29 का भी इस्तेमाल किया.मिग-29 की सहायता से पाकिस्तान के कई ठिकानों पर आर-77 मिसाइलों से हमला किया गया.

करीब 2 महीने तक चले इस युद्ध में देश के 500 से ज्यादा जवान वीरगति को प्राप्त हुए वहीं 1300 के करीब जवान इतने लम्बे युद्ध में जंग के दौरान घायल हो गए.

 

First published: 26 July 2018, 9:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी