Home » इंडिया » Karnatak H D KumarSwamy Goverment Fall in Trust Vote
 

कुमारस्वामी की सरकार गिरी, येदियुरप्पा बोले- यह लोकतंत्र की जीत है

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 July 2019, 20:46 IST

कर्नाटक के नाटक का अंत हो गया है. राज्य के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी विधानसभा में फ्लोर टेस्ट में अपना बहुमत साबित करने में नाकाम रहे. इसके साथ ही राज्य की कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार गिर गई. मंगलाव को कुमारस्वामी ने विश्वासमत प्रस्ताव पेश किया था. जिसके बाद स्पीकर ने वोटिंग कराई. वोटिंग के दौरान सदन में 204 विधायक मौजूद थे. विश्वासमत प्रस्ताव के पक्ष में 99 वोट पड़े जबकि विरोध में 105 वोट पड़े. 

विश्वासमत प्रस्ताव के दौरान विधानसभा से कांग्रेस के बागी विधायक, एक बसपा विधायक और दो निर्दलिय विधायक भी नदारद रहे. 14 महीने तक राज्य के मुख्यमंत्री रहने वाले कुमारस्वामी  राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा देंगे.

इससे पहले विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव पर बहस के दौरान कुमारस्वामी ने कहा कि वो सीएम पद छोड़ने के लिए तैयार है. सदन में उन्होंने कहा,'मैं खुशी-खुशी इस पद को छोड़ने के लिए तैयार हूं.' इससे पहले विधानसभा अध्यक्ष के आर रमेश कुमार ने कांग्रेस के बागी विधायकों को सुबह 11 बजे तक उपस्थित रहने के लिए समन भेजा था लेकिन विधायकों ने निजी कारणों का हवाला देते हुए विधासनभा में आने में असमर्थता जताई थी.

वहीं कुमारस्वामी सरकार के गिरने के बाद बीजेपी के खेमे में खुशी साफ दिखाई दी. कर्नाटक विधानसभा के बाहर बीजेकी के कार्यकर्ताओं को जश्न मनाते देखा गया. वहीं दूसरी तरफ कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री येदियुरप्पा, कुमारस्वामी की सरकार गिरने के बाद सदन में विक्टरी साइन दिखाते नजर आए.

वहीं कुमारस्वामी की सरकार गिरने के बाद येदियुरप्पा ने पत्रकारों के बात करते हुए कहा,यह लोकतंत्र की जीत है, राज्य के लोग कुमारस्वामी सरकार से तंग आ गए थे. मैं कर्नाटक के लोगों को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि विकास के एक नए युग की शुरूआत होगी.

येदियुरप्पा ने किसानों के लिए कहा कि हम आने वाले दिनों में राज्य के किसानों को ज्यादा महत्व देंगे. हम जल्द से जल्द महत्वपूर्ण निर्णय लेंगे. खबरों के मुताबिक, येदियुरप्पा आने वाले दो दिनों में सरकार बनाने का दावा पेश कर सकतें हैं. 

वहीं सरकार गिरने पर कांग्रेस नेता एचके पाटिल ने कहा कि हमारी सरकार गिरने का कारण हमारे बागी विधायक थे. हम कई चीजों को प्रलोभन में आ गए. कर्नाटक के लोग इस तरह की धोखेबाजी बर्दाशत नहीं करेंगे. वहीं इस सबके बीच बेंगलुुरू में धारा 144 लागू कर दि गई है.  

First published: 23 July 2019, 20:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी