Home » इंडिया » Karnataka assembly floor test Yeddyurappa resign, BJP will not face floor test
 

कर्नाटक: येदियुरप्पा ने किया इस्तीफे का ऐलान, फ्लोर टेस्ट से डरी भाजपा

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 May 2018, 16:24 IST

कर्नाटक विधानसभा में अपना फ्लोर टेस्ट साबित न कर पाने के डर से बीएस येदियुरप्पा ने अपना इस्तीफा दे दिया है. इससे पहले उन्होंने विधानसभा में भावुक भाषण दिया था. गौरतलब है कि उन्हें आज विधानसभा में बहुमत साबित करना था. लेकिन पर्याप्त विधायकों का इंतजाम ना कर पाने की वजह से फ्लोर टेस्ट से कदम खींच लिए. इससे पहले अटल बिहारी वाजपेयी ने साल 1996 में 13 दिन की सरकार चलाने के बाद फ्लोर टेस्ट का सामना करने की जगह राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा सौंप दिया था.

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को आज फ्लोर टेस्ट में अपना बहुमत साबित करने का आदेश दिया था. कोर्ट ने कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले को पलटते हुए 15 दिन के समय को घटाकर एक दिन कर दिया था. 

 येदियुरप्पा ने दिया भावुक भाषण

येदियुरप्पा ने शनिवार को कर्नाटक विधानसभा में भावुक भाषण दिया. येदियुरप्पा ने कहा कि मेरे पास 104 विधायक हैं. लोगों ने हमें बड़े प्यार से चुना है. येदियुरप्पा ने कहा कि कर्नाटक का जनादेश कांग्रेस-जेडीएस के खिलाफ है. दोनों दल एक-दूसरे के खिलाफ लडे. लेकिन जनादेश के खिलाफ एक दूसरे के साथ हो गए. उन्होंने कहा कि इस समय कर्नाटक के किसान आंसू बहा रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि मैंने लोगों के बीच जाकर उनका दर्द जाना था. इसके अलावा किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए 6 नदियों को जोड़ने की योजना बनाई थी. हम लोगों का आंसू पोछना चाहते थे.

आपको बता दें कि इस समय विधानसभा में सारे विधायक मौजूद हैं. जिन कांग्रेसी विधायकों के गायब होने की खबर आई थी वह भी विधानसभा में मौजूद हैं. इसके अलावा कांग्रेस और बीजेपी के बड़े नेता मौजूद हैंं. 

 

First published: 19 May 2018, 16:03 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी