Home » इंडिया » Karnataka assembly speaker Ramesh kumar disqualifies three MLAs including two congress rebel MLA
 

कर्नाटक के तीन बागी विधायक अयोग्य करार, बाकी पर बाद में फैसला लेंगे स्पीकर

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 July 2019, 8:11 IST

कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन वाली सरकार जाने के बाद भी सियासी नाटक अभी खत्म नहीं हुआ है. गुरुवार को कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर ने तीन बागी विधायकों को अयोग्य करार दे दिया. इनमें कांग्रेस के दो बागी विधायक भी शामिल है. वहीं एक निर्दलीय को भी अयोग्य करार दिया गया है. स्पीकर केआर रमेश कुमार ने कांग्रेस के जिन दो बागी विधायकों को अयोग्य करार दिया उनमें रमेश जरकिहोली और महेश कुमातल्ली के नाम शामिल हैं.

स्पीकर ने इन दोनों विधायकों को 2023 में मौजूदा विधानसभा का कार्यकाल खत्म होने तक अयोग्य घोषित किया है. इनके अलावा निर्दलीय विधायक आर. शंकर को भी 2023 तक के लिए अयोग्य घोषित कर दिया गया हैविधानसभा स्पीकर रमेश कुमार ने कहा कि बाकी 14 बागी विधायकों के मामले में बाद में फैसला लिया जाएगा. उन्होंने कहा कि, "मेरे पास कई शिकायतें हैं, मुझे फैसले के लिए और वक्त चाहिए. ऐसे मामले की स्टडी करनी पड़ती है.”

स्पीकर रमेश कुमार ने गुरुवार को कहा कि तीनों ने सही तरीके से इस्तीफा नहीं दिया. जो दल बदल कानून की 10वीं अनुसूची के नियमों का उल्लंघन है. स्पीकर के इस फैसले को बाकी बागी विधायकों के लिए चेतावनी के तौर पर भी देखा जा रहा है. जिससे बाकी के विधायक भी वापस पार्टी में लौटने पर विचार करे सकें. स्पीकर ने मुताबिक अगले कुछ दिनों में बाकी 14 बागी विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लिया जाएगा.

स्पीकर ने कहा कि बागी विधायकों को उनके समक्ष उपस्थित होने का अब और मौका नहीं मिलेगा. इसके साथ ही अब ये अध्याय बंद हो चुका है. उन्होंने कहा कि, "कानून सबके लिये समान है. चाहे वह मजदूर हो या भारत का राष्ट्रपति.” स्पीकर रमेश कुमार ने बागी विधायकों के अयोग्य ठहराए जाने के बाद कहा कि, जब तक मौजूदा विधानसभा की मियाद है, तब तक वे विधायक नहीं रहेंगे. सदन के मौजूदा कार्यकाल में वे चुनाव भी नहीं लड़ सकते. स्पीकर ने कहा कि कुछ अन्य लोगों की भी शिकायतें उन्हें मिली हैं, जिन पर वे फैसला लेने के लिए वक्त लेंगे.

लोकसभा से पास हुआ तीन तलाक बिल, कांग्रेस, जेडीयू समेत कई दलों ने बिल के विरोध में सदन से किया वॉकआउट

First published: 26 July 2019, 8:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी