Home » इंडिया » karnataka boy writes how to play battle royale game in answer sheet fails pre exam
 

छात्र ने प्री-यूनीवर्सिटी के पेपर में लिखा 'PUBG कैसे खेलते हैं?' फिर...

कैच ब्यूरो | Updated on: 22 March 2019, 10:11 IST

PUBG की दिवानगी हर उम्र के लोगों में सिर चढ़ कर बोल रहा है. इस गेम के कारण बढ़ रहे हादसों को कम करने के लिए सरकार द्वारा कई कदम भी उठाए गए हैं, लेकिन फिर भी इसकी दिवानगी कम होने का नाम नहीं ले रहा. हाल ही में एक और पबजी को लेकर एक अनोखी घटना सामने आई है. दरअसल, कर्नाटक का एक छात्र अपने पेपर में 'पबजी कैसे खेलते हैं' लिख आया. छात्र की इस कारनामें की वजह से शिक्षक ने छात्र को फेल कर दिया.

खबरों के मुताबिक, कर्नाटक के फर्स्ट ईयर के एक छात्र ने प्री-यूनिवर्सिटी परीक्षा में इकोनोमिक्स के आनसर सीट पर 'PUBG कैसे खेलते हैं?' लिखकर आ गया. छात्र की ऐसी हरकत के बाद यूनीवर्सिटी द्वारा उसे फेल कर दिया गया. आश्चर्य की बात है कि ये छात्र अपने 1०th क्लास में डिक्टेंशन के साथ पास हुआ था.


छात्र का नाम शरद है, जो एक प्राइवेट कॉलेज में पढ़ाई करता है. इसने दसवीं की परीक्षा में 73 प्रतिशत अंक हासिल किए थे. इसके बाद उसे मोबाइल फोन मिला. मोबाइल पर उसे PUBG खेलने की आदत हो गई. उसके घरवालों को लगता था कि वे अपने फ्रेंड्स के बात कर रहा है, लेकिन जब वो प्री-यूनिवर्सिटी परीक्षा में फेल हो गया जब उसके परिवारवालों को पता चला की वो पबजी का आदी हो गया है.

जम्मू-कश्मीर में पिछले 24 घंटे से जारी मुठभेड़ में 4 आतंकी ढेर, मारा गया लश्कर का टॉप कमांडर

छात्र प्री-यूनीवर्सिटी परीक्षा के दौरान PUBG खेलता रहा. 2 फरवरी को उसने इकोनोमिक्स का पेपर दिया. इस पेपर में उसने 'PUBG कैसे खेलते हैं?' की पूरी प्रक्रिया लिख कर आ गया.

छात्र ने PUBG खेलने की छोटी से छोटी प्रक्रिया को पूरे विस्तार से लिखा. जहां तक की पबजी को गूगस से कैसे डाउनलोड करते हैं. इस बात को भी पूरे विस्तार से लिखा. इसके अलावा ब्लाइंड स्पॉट से बचने और कैसे इन ब्लाइंड स्पॉट के जरिए बेटर अटैक करने के बारे में तक लिखखर आया. छात्र की इस हरकत से शिक्षक दंग रह गए. उन्होंने उसे नंबर नहीं दिया और वह फेल हो गया.

शरत की इस हरकत को देखते हुए परिवारवालों ने उसकी काउंसलिंग शुरू कराई है. काउंसलिंग कर रहे एक वालंटियर ने कहा कि कई बार जब लोगों को सवालों का जवाब नहीं पता होता है तो गाने या मूवी डॉयलॉग लिखकर चले आते हैं. शरत के मामले में भी ऐसा हो सकता है.

मेहुल चौकसी ने PM नरेंद्र मोदी पर की Ph.D, 2010 से लिख रहा था थीसिस

First published: 22 March 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी