Home » इंडिया » Karnataka congress JDS 14 MLAs disqualified by speaker Ramesh Kumar
 

कर्नाटक में बीजेपी को मिला जीवनदान, स्पीकर ने कांग्रेस के 11 और जेडीएस के 3 विधायकों को ठहराया अयोग्य

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 July 2019, 14:19 IST

कर्नाटक का नाटक अभी खत्म नहीं हुआ. सीएम बनने के बाद येदियुरप्पा को फ्लोर टेस्ट से गुजरना था. इससे पहले ही कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने बड़ा फैसला लेते हुए इस्तीफा दे चुके 14 बागी विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया.

इनमें 11 विधायक कांग्रेस के और 3 विधायक जेडीयू के शामिल हैं. इससे पहले स्पीकर ने 3 विधायकों को अयोग्य करार दिया था. जिन्हें मिलाकर अब कुल इस्तीफा दे चुके 17 विधायकों को स्पीकर अयोग्य करार दे चुके हैं. विधायकों को अयोग्य करार देने के बाद स्पीकर ने कहा कि मैंने कोई चालाकी या ड्रामा नहीं किया, बल्कि सौम्य तरीके से फैसला लिया है.

अयोग्य करार दिए गए विधायकों में कांग्रेस के बैराठी बसवराज, मुनिरत्न, एसटी सोमशेखर, रोशन बेग, आनंद सिंह, एमटीबी नागराज, बीसी पाटिल, प्रताप गौड़ा पाटिल, डॉ. सुधाकर, शिवराम हेब्बार, श्रीमंत पाटिल शामिल हैं. वहीं अयोग्य करार दिए गए विधायकों में जेडीएस के गोपालैया, नारायण गौड़ा, ए एच विश्वनाथ भी अयोग्य करार दिए गए हैं.

 

बता दें कि कर्नाटक विधानसभा में 17 विधायकों के अयोग्य करार दिए जाने के बाद विधानसभा की संख्या 207 रह गई. इस हिसाब से बहुमत का आंकड़ा 104 विधायकों का रह जाता है. इसके अलावा एक सदस्य मनोनीत है. कुल संख्या 105 विधायकों की है. बीजेपी के पास फिलहाल 105 विधायकों का समर्थन है, जैसा कि पिछले ट्रस्ट वोट में कुमारस्वामी के पक्ष में 99 और विपक्ष में 105 वोट पड़े थे.

अपना फैसले सुनाने के बाद स्पीकर रमेश कुमार ने कहा, "हम कहां जाते? स्थिति से निपटने के लिए मेरे ऊपर जिस तरीके से दबाव बनाया गया. स्पीकर होते हुए भी इन सभी बातों ने मुझे घोर निराशा में धकेल दिया.” बता दें कि पिछले हफ्ते ही कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी की सरकार गिर गई थी. विधानसभा में मंगलवार को तत्कालीन मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के नेतृत्व में कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन वाली सरकार विश्वास मत हासिल नहीं कर सकी. 225 में से 20 विधायक विश्वास मत के लिए सदन में उपस्थित नहीं हुए थे.

कश्मीर में हो सकता है बड़ा आतंकी हमला, NSA डोभाल ने आनन-फानन में की बैठक

First published: 28 July 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी