Home » इंडिया » Karnataka Assembly Election 2018 Results : record says who won election lost next Lok Sabha Election
 

कर्नाटक चुनाव रिजल्ट Live: जीतने वाली पार्टी पर 2019 में टूट सकता है आसमान!

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 May 2018, 11:01 IST

Karnataka Assembly Election 2018 :  कर्नाटक विधानसभा चुनावों के लिए 12 मई को मतदान हुए हैं. वोटिंग के बाद पिछले तीन दिनों का इंतजार खत्म हो गया है. आज (15 मई) पता चल जाएगा कि कर्नाटक में किसकी सरकार बनेगी. सुबह 8 बजे से नतीजे आने शुरू हो जाएंगे. इसके लिए सारे इंतजाम कर लिए गए हैं. 224 सीटों वाली विधानसभा की 222 सीटों पर पड़े मतों की गिनती सुबह 8 बजे से शुरू हो जाएगी.

 

कर्नाटक जीतने के लिए सभी पार्टियां उतावली हैं लेकिन इस उतावलेपन पर रिकॉर्ड भारी पड़ रहे हैं. दरअसल, इससे पहले कर्नाटक में जिसकी भी सरकार बनी वह दोबारा फिर से केंद्र की सत्ता में नहीं रहा. अगर पूर्व के चुनाव पर नजर डालें तो एक तरह से कर्नाटक चुनाव को लेकर अलग ही धारणा बन रही है.

 

साल 2004 में जनता दल सेक्यूलर (जेडीएस) ने कर्नाटक में सरकार बनाई थी, लेकिन इसी साल हुए लोकसभा चुनाव में जेडीएस को हार का सामना करना पड़ा था. इसके बाद साल 2008 में भारतीय जनता पार्टी ने कर्नाटक में सरकार बनाई थी और 2009 का लोकसभा चुनाव हार गई थी. साल 2013 में कर्नाटक में कांग्रेस की सरकार बनी थी लेकिन अगले ही साल 2014 के लोकसभा चुनावों में उसकी करारी हार हुई थी.

साल 2014 के चुनाव में भाजपा की जबरदस्त जीत हुई थी. इस हिसाब से देखा जाए तो 2018 में कर्नाटक जीतने वाले को 2019 में लोकसभा चुनाव गंवाना पड़ सकता है.

गौरतलब है कि कर्नाटक बीजेपी, कांग्रेस समेत यहां की क्षेत्रीय पार्टी जेडीएस के लिए बहुत महत्वपूर्ण है. बीजेपी कर्नाटक जीतकर जहां दक्षिण में घुसने को बेताब है तो राहुल गांधी को भी खुद को साबित करना है. पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा की पार्टी जेडीएस के लिए भी यह चुनाव काफी अहम है. कर्नाटक के नतीजों पर पूरे देश की नजरें टिकी हुई हैं. यह चुनाव भाजपा और कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न भी बन चुके हैं.

पढ़ें- कर्नाटक चुनाव रिजल्ट Live: आज होगा फैसला, मोदी का चलेगा जादू या राहुल जीतेंगे रण

चुनाव आयोग के अनुसार, मतों की गणना 40 केंद्रों पर होगी. सबसे पहले शुरुआती एक-दो घंटों में ही रुझान आने लगेंगे. माना जा रहा है कि दोपहर बाद तक राज्य में जनादेश की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी. मतगणना में किसी भी बवाल से बचने के लिए भारी तादाद में सुरक्षाबलों और पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है. 

First published: 15 May 2018, 8:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी