Home » इंडिया » Karnataka election: BJP president Amit Shah and PM modi will not go in bs Yeddyurappa oath ceremony
 

कर्नाटक: 2014 के बाद पहली बार मोदी-शाह BJP मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण में नहीं होंगे शामिल

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 May 2018, 8:51 IST

कर्नाटक में भाजपा के नेता बीएस येदियुरप्पा के सीएम पद के शपथ ग्रहण के खिलाफ कांग्रेस ने देर रात सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की. इस मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एके सीकरी, जस्टिस एसए बोबड़े और जस्टिस अशोक भूषण की तीन जजों की बेंच ने की.

कोर्ट ने कांग्रेस की याचिका पर सुनवाई करते हुए भाजपा के नेता बीएस येदियुरप्पा के गुरुवार को होने वाली शपथ ग्रहण समारोह पर रोक लगाने से इनकार कर दिया. इससे साफ हो गया कि येदियुरप्पा आज सुबह 9 बजे भव्य समारोह में शपथ ग्रहण करेंगे. लेकिन येदियुरप्‍पा के शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी और अमित शाह मौजूद नहीं रहेंगे. कहा जा रहा है कि सबकुछ आखिरी पल में हुआ, ऐसे में इनका जाना मुश्किल है.

 

26 मई 2014 को जब बीजेपी ने लोकसभा में शानदार जीत दर्ज की तब बीजेपी की 5 राज्यों में सरकार थी. ये राज्य थे गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, और नागालैंड. लेकिन अाज 17 मई 2018 को यानी करीब चार साल में देश के 29 राज्यों में से 21 राज्यों में या तो बीजेपी की सरकार है या उसके गठबंधन सहयोगी की सरकार है.

पढ़ें- SC ने आधी रात सुनवाई के बाद कहा, येदियुरप्पा की शपथ पर नहीं लगा सकते रोक लेकिन करना होगा ये काम

कर्नाटक में आज 9 बजे बीजेपी के मुख्यमंत्री के रूप में बीएस येदियुरप्पा शपथ लेंगे. इसके साथ ही बीजेपी की 22 राज्यों में सरकार हो जाएगी. यानि कि साल 2014 के बाद बीजेपी ने 17 राज्यों में सरकार बनाई है. इन राज्यों में जब भी मुख्यमंत्री ने शपथ ली है या तो बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह या पीएम मोदी जरूर मौजूद रहे हैं. लेकिन ये पहली बार होगा कि किसी बीजेपी मुख्यमंत्री के शपथ ग्रहण समारोह में पीएम मोदी और अमित शाह मौजूद नहीं रहेंगे. 

भले ही बीजेपी यह कह रही हो कि सबकुछ आखिरी पल में हुआ, ऐसे में इनका जाना मुश्किल है. लेकिन यह सभी जानते हैं कि सरकार के टिके रहने पर संशय बरकरार है. बीजेपी को आभास है कि कर्नाटक में राजनीतिक और कानूनी अड़चन आ सकती है. इसीलिए परंपरा को तोड़ते हुए अमित शाह और मोदी शपथ में शामिल नहीं हो रहे.

अभी तक देखा गया है कि बीजेपी के मुख्यमंत्रियों के शपथग्रहण समारोह सुपर इवेंट की तरह होता है. जिसमें बीजेपी अपनी ताकत का अहसास कराती है. पीएम मोदी, अमित शाह तो रहते ही हैं बल्कि बीजेपी के सभी राज्यों के मुख्यमंत्री ज्यादातर बड़े नेता भी मौजूद रहते हैं.

येदियुरप्पा तीसरी बार मुख्यमंत्री की गद्दी पर बैठने जा रहे हैं. इससे पहले वह दो बार 3 साल 2 महीने तक सीएम रहे. लेकिन कभी गठबंधन के सहयोगी ने उनकी सत्ता छीनी तो कभी भ्रष्टाचार के आरोप ने उन्हें कुर्सी से बेदखल कर दिया था.

First published: 17 May 2018, 8:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी