Home » इंडिया » Karnataka government floor test today trust vote HD Kumaraswamy government
 

कर्नाटक सरकार का फ्लोर टेस्ट आज, बीजेपी के हाथ लगेगी सत्ता या फिर कुमारस्वामी बने रहेंगे सीएम

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 July 2019, 8:11 IST

कर्नाटक में पिछले कुछ दिनों से जारी सियासी संकट का आज अंत हो सकता है. दरअसल, कर्नाटक में मौजूदा कुमारस्वामी सरकार रहेगी या नहीं, इसका आज फैसला होने वाला है. क्योंकि आज होने वाले विश्वास मत से कर्नाटक सरकार का भविष्य तय हो जाएगा. बता दें कि कर्नाटक में जब से कांग्रेस और जेडीएस के गठबंधन वाली कुमारस्वामी सरकार बनी है. तभी से सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं.

वहीं कांग्रेस और जेडीएस विधायकों के इस्तीफे के बाद से कर्नाटक सीएम एचडी कुमारस्वामी की सरकार के सामने और भी खतरा बढ़ गया हैऐसे में सरकार बचाने के लिए बात विश्वास मत तक पहुंच गई. राजनीती के जानकारों का मानना है कि कुमारस्वामी सरकार बचाने के लिए जरूरी विश्वास मत हासिल नहीं कर पाएंगे और अपनी कुर्सी से हाथ धो बैठेंगे.


बता दें कि 224 सदस्यों वाली कर्नाटक विधानसभा में विधायकों के इस्तीफा देने के बाद से ही कुमारस्वामी स्वामी सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं. यहां बीजेपी के पास 105 विधायक है. वहीं कांग्रेस के पास 75+1 (स्पीकर) और जेडीएस के 37 सदस्य थे. लेकिन विधायको के इस्तीफे देने के बाद से ही मौजूदा कुमारस्वामी सरकार का गणित बिगड़ गया और सरकार अल्पमत में आ गई.

कांग्रेस और जेडीएक के बागी विधायकों की वजह से ये माना जाने लगा कि ये विधायक बीजेपी के साथ चले जाएंगे और कर्नाटक में एक बार फिर से कमल खिल जाएगा. हालांकि अभी तक ऐसा नहीं हुआ और फिलहाल बीजेपी के पास विधानसभा में विधानसभा में सदस्यों की संख्या पुरानी वाली है यानि बीजेपी के पास अभी भी 105 विधायक ही है.

लेकिन कांग्रेस और जेडीएस को इस मामले में नुकसान उठाना हुआ है क्योंकि अब कांग्रेस के पास 65+1 (स्पीकर) और जेडीएस के 34 विधायक ही बच गए हैं. ऐसे में दोनों पार्टियों के विधायकों का आंकड़ा बीजेपी से कम हो गया है. बता दें कि कर्नाटक में निर्दलीय 2, बीएसपी का एक और नॉमिनेटेड एक सदस्य भी मौजूद हैं.

बता दें कि आज विश्वासमत हासिल करने के लिए होने वाली वोटिंग में अगर कांग्रेस-जेडीएस के 15 विधायक नहीं पहुंचते हैं तो पूरा समीकरण ही बदल जाएगा. उसके बाद कर्नाटक विधानसभा में तब कुल 209 सदस्य रह जाएंगे. जिसके चलते सत्तारूढ़ गठबंधन विधायकों की संख्या कम होने के चलते बहुमत साबित करने में नाकामयाब रह सकती है. ऐसे में माना जा रहा है कि कुमारस्वामी की सरकार को गिराने से कोई नहीं बचा सकता.

कुलभूषण जाधव फैसला : ICJ ने पाकिस्तान को दिया झटका, फांसी पर लगाई रोक

First published: 18 July 2019, 8:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी