Home » इंडिया » Karnataka: HD Kumaraswamy led Congress-JDS government lost trust vote in the assembly
 

कर्नाटक: येदियुरप्पा ने 12 साल बाद बराबर किया हिसाब, तब कुमारस्वामी ने दगा देकर गिराई थी BJP की सरकार

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2019, 12:12 IST

कर्नाटक में 14 महीने तक चली कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की एचडी कुमारस्वामी सरकार को सत्ता से बाहर होना पड़ा. एचडी कुमारस्वामी की सरकार कर्नाटक विधानसभा में अल्पमत के चलते फ्लोर टेस्ट पास नहीं कर पाई और गिर गई. फ्लोर टेस्ट में कांग्रेस-जेडीएस के पक्ष में 99 और बीजेपी के पक्ष में 105 वोट पड़े. 

कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी के साथ जो हुआ, वैसा ही कभी उनकी वजह से बीजेपी के साथ हुआ था. तब एचडी कुमारस्वामी ने येदियुरप्पा के साथ दगा दिया था और उनकी सरकार गिरा दी थी. साल 2004 में कर्नाटक विधानसभा का चुनाव हुआ था. इस चुनाव में कुल बीजेपी को 79, कांग्रेस को 65, जेडीएस को 58 और अन्य को 23 सीटें मिली थी.

 

2004 में किसी भी पार्टी के पास बहुमत नहीं था. तब आज की ही तरह कांग्रेस और जेडीएस के बीच समझौता हुआ था. हालांकि तब कांग्रेस के धरमसिंह मुख्यमंत्री बने थे. धरम सिंह ने 28 मई 2004 को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. लेकिन यह सरकार ज्यादा दिनों तक नहीं चल सकी.

सरकार बनाने के पौने दो साल के बाद एचडी कुमारस्वामी ने अपने विधायकों के साथ समर्थन वापस ले लिया था और धरमसिंह की सरकार गिरा दिया था. इसके बाद कुमारस्वामी ने बीजेपी के साथ सरकार चलाने के लिए समझौता किया. समझौते के तहत राज्यपाल ने जेडीएस को सरकार बनाने का आमंत्रण दिया और बीजेपी के समर्थन से एचडी कुमारस्वामी 2006 में राज्य के मुख्यमंत्री बने.

 

समझौते के तहत बीजेपी-जेडीएस के बीच सहमति बनी थी‍ कि दोनों पार्टियों के नेता बारी-बारी से और बराबर-बराबर समय के लिए राज्य के मुख्यमंत्री बनेंगे. लेकिन मौकापरस्त कुमारस्वामी ने अपने समय की सरकार तो चलाई लेकिन जब बारी बीजेपी की आई तो वह बात से पलट गए. जिसके बाद कर्नाटक में राष्ट्रपति शासन लग गया.

हालांकि दो दिन तक राष्ट्रपति शासन लगने के बाद बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा पेश किया और 12 नंबवर 2007 को बीएस येदियुरप्पा राज्य के मुख्यमंत्री बने. यह पहली बार था जब साउथ के किसी राज्य में बीजेपी का कोई मुख्यमंत्री बना था. इस सरकार को कुमारस्वामी ने बाहर से समर्थन दिया. लेकिन एक बार फिर उन्होंने येदियुरप्पा को धोखा दिया और मात्र सात दिन के बाद ही कुमारस्वामी ने सरकार से समर्थन वापस खींच लिया था, जिसके चलते येदियुरप्‍पा को मुख्यमंत्री पद गंवाना पड़ा था.

तेज प्रताप यादव ने धारण किया भगवान शंकर का रूप, लोग बोले- कैसा नमूना पैदा किया लालू ने

रेलवे के कई कर्मचारी पाकिस्तान के लिए जासूसी करते पकड़े गए, हैरान रह गया रेलवे खुफिया विभाग

First published: 24 July 2019, 12:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी