Home » इंडिया » Karnataka: HD kumaraswamy strong massage to congress leadership says cm will not alternating
 

कर्नाटक: CM पद को लेकर कांग्रेस-JDS में बिगड़ सकती है बात, मिल रहे संकेत

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 May 2018, 9:44 IST

कर्नाटक विधानसभा में शनिवार (19 मई) को विश्वास मत साबित करने से पहले कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने इस्तीफा दे दिया. इसके साथ ही उनकी तीन दिन पुरानी सरकार गिर गई थी. कांग्रेस ने चुनाव परिणामों के बाद जेडीएस के कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने का ऑफर किया था, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया था. अब जबकि भाजपा की सरकार गिर गई है तो कुमारस्वामी का मुख्यमंत्री बनना लगभग तय माना जा रहा है.

लेकिन अब खबरें आ रही हैं कि कांग्रेस और जेडीएस में मुख्यमंत्री पद को लेकर एक फॉर्मूले पर बात बिगड़ सकती है. दरअसल, मीडिया में खबरें चल रही थीं कि जेडीएस और कांग्रेस बारी-बारी से 30-30 महीने सरकार का नेतृत्व करने के फॉर्मूले पर आगे बढ़ रहे हैं.

इसे लेकर रविवार को एचडी कुमारस्वामी ने कांग्रेस को कड़ा संदेश देते हुए 30-30 महीने सरकार का नेतृत्व करने का फॉर्मूला खारिज कर दिया. उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि ऐसी कोई बातचीत नहीं हुई है. 

मीडिया में दोनों पार्टियों की तरफ से मंत्रियों के बंटवारे को लेकर भी खबरें आ रही थीं. इस पर पूछे जाने पर कुमारस्वामी ने कहा कि इस बारे में भी अभी कोई बातचीत नहीं हुई है. आज कुमारस्वामी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे. उन्होंने बताया कि इस बातचीत के आधार पर ही तय होगा कि कांग्रेस और जेडीएस के कितने-कितने विधायक मंत्री बनेंगे.

 

लेकिन उन्होंने साफ कर दिया कि कांग्रेस और जेडीएस में CM पद को लेकर 30-30 महीने का कोई समझौता नहीं हुआ है. इसे कांग्रेस के लिए झटके के रूप में देखा जा रहा है. क्योंकि कांग्रेस के सूत्रों से खबर थी कि कुमारस्वामी से इस फॉर्मूले के तहत सरकार बनाने की बात की जा सकती है. 

पढ़ें- कर्नाटक: कुमारस्वामी सोमवार को लेंगे CM पद की शपथ, 2019 में मोदी को हराने के लिए सजेगा विपक्षी मंच

बता दें कि कुमारस्वामी ने साल 2006 में इसी फॉर्मूले के तहत 20-20 महीने के लिए भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनाई थी. हालांकि, बाद में उन्होंने भाजपा को नेतृत्व सौंपने से इनकार कर दिया था और सरकार गिर गई थी. इसके बाद साल 2008 में दोबारा हुए चुनाव में बीजेपी बहुमत हासिल कर सत्ता में आई थी और येद्दयुरप्पा राज्य के मुख्यमंत्री बने थे. 

First published: 21 May 2018, 9:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी