Home » इंडिया » Karnataka political crisis CM HD Kumaraswamy arrived Bengaluru and meet with jds and congress leaders
 

कर्नाटक में राजनैतिक संकट जारी, कुमारस्वामी ने बेंगलूरू पहुंचते ही पार्टी नेताओं संग की बैठक

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 July 2019, 11:12 IST

कर्नाटक की सियासत में हो रही उठापटक अभी खत्म नहीं हो रही. इसी बीच मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी भी बेंगलूरू पहुंच चुके हैं. सीएम कुमारस्वामी में गैरमौजूदगी में शुरु हुए राजनैतिक ड्रामे के बीच कांग्रेस और जेडीएस के 13 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया. जिसके चलते कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस का गठबंधन गिरने के कगार पर पहुंच गयाअब मुख्यमंत्री कुमार स्वामी के सामने इस बात की चुनौती पैदा हो गई कि किस तरह से गठबंधन को बचाए रखने के साथ मुख्यमंत्री की कुर्सी को बचाया जाए.

अपने निजी दौरे पर अमेरिका गए कुमारस्वामी राज्य में राजनैतिक संकट पैदा होने की खबर मिलते ही आपात स्थिति में बेंगलुरु पहुंच गए. एयरपोर्ट पहुंचे ही कुमारस्वामी सीधे जेडीएस नेताओं के साथ मीटिंग के लिए निकल गए. इस बीच कांग्रेस और कुमारस्वामी की ओर से दावा किया है कि सरकार को कोई खतरा नहीं है.

मुख्यमंत्री कुमारस्वामी अपनी पार्टी के बागी विधायकों को मनाने की हर संभव कोशिश में है, साथ ही कांग्रेस भी अपने नाराज विधायकों को मनाने में लगी है, जिससे किसी भी सूरत में सरकार को गिरने से बचाया जा सके. कांग्रेस ने एक सर्कुलर जारी कर अपने सभी विधायकों को नौ जुलाई को हाजिर रहने का निर्देश दिया है. वहीं बीजेपी नेता और पूर्व सीएम बीएस येदुरप्पा ने भी बीजेपी विधायकों की बैठक बुलाई है. कांग्रेस इस मामले को लेकर बीजेपी पर साजिश का आरोप लगा रही है, लेकिन बीजेपी इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है.

बता दें कि बागी विधायकों को जहां कांग्रेस मानने में लगी है वहीं 13 में से 10 विधायक कल रात मुंबई पहुंच गए है. कांग्रेस से सस्पेंड किए गए शिवाजीनगर से बागी विधायक रोशन बैग ने भी इस्तीफे का संकेत दिया है. ऐसे में गठबंधन सरकार के सामने अल्पमत में आने का खतरा मंडरा रहा है. रोशन बैग ने दो दिनों के भीतर अपना स्टैंड क्लियर करने को कहा है. उन्होंने सिद्धारमैया को इन हालातों के लिए जिम्मेदार ठहराया है. बता दें कि बागी हुए विधायकों में अधिकतर विधायक सिद्धारमैया के करीबी रहे हैं. ऐसे में रोशन बैग पूरे घटनाक्रम के पीछे सिद्धारमैया का हाथ होने से पीछे नहीं हट रहे.

224 सीटों वाली कर्नाटक विधानसभा में गठबंधन के पास 118 सीटें हैं. जिसमें कांग्रेस की 79 और जेडीएस के पास 37 सीटें हैं. इनमें से कांग्रेस के 10 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है और जेडीएस के 3 बागी विधायकों ने इस्तीफे दे दिया है. इसके बाद अब कांग्रेस के 69 और जेडीएस के पास 34 विधायक शेष बचे हैं. इसके अलावा बीएसपी का 1 और 1 निर्दलीय एक विधायक गठबंधन के साथ है. इन सब को मिलाकर गठबंधन के पास सिर्फ 105 विधायक हो जाते हैं. वहीं बीजेपी के पास भी 105 विधायक है. ऐसे में बीजेपी कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायकों को अपने खेमे में लाने की कोशिश करेगी.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिया इस्तीफा, कांग्रेस के लिए बड़ा झटका

First published: 8 July 2019, 8:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी