Home » इंडिया » Karnataka: Resignation of BJP leader BS Yeddyurappa as Chief Minister before floor test
 

बदला: कर्नाटक में येदियुरप्पा की सरकार गिराकर कांग्रेस ने BJP से किया हिसाब बराबर

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 May 2018, 16:50 IST

कर्नाटक में येदियुरप्पा सरकार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित न कर पाने की आशंका के चलते फ्लोर टेस्ट से पहले इस्तीफा देना पड़ा है. उन्होंने इस्तीफे से पहले काफी भावुक भाषण दिया. भाषण में उन्होंने कांग्रेस और जेडीएस पार्टी पर बड़ा हमला बोला.

येदियुरप्पा ने कहा कि कर्नाटक की जनता ने बीजेपी को बहुमत दिया था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार से राज्य की जनता त्रस्त थी. येदियुरप्पा ने कहा कि मेरे पास 104 विधायक हैं. लोगों ने हमें बड़े प्यार से चुना है. कर्नाटक का जनादेश कांग्रेस-जेडीएस के खिलाफ है. दोनों दल एक-दूसरे के खिलाफ लडे. लेकिन जनादेश के खिलाफ एक दूसरे के साथ हो गए. उन्होंने कहा कि इस समय कर्नाटक के किसान आंसू बहा रहे हैं. 

इसके साथ ही कांग्रेस ने बीजेपी से अपने कई हिसाब बराबर कर लिए. इससे पहले गोवा, मणिपुर में सबसे बड़ी पार्टी होने के बाद भी कांग्रेस सरकार नहीं बना पाई थी और बीजेपी ने सरकार बना ली थी. जबकि मेघालय में भी कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी थी जबकि बीजेपी ने सिर्फ दो सीट जीतने के बाद भी दूसरे नंबर की पार्टी एनपीपी से गठबंधन कर राज्य में सत्ता हासिल कर ली थी.

बता दें कि कर्नाटक विधानसभा में बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78 तथा जेडीएस गठबंधन को 38 सीटें मिली थीं. इसके बाद कांग्रेस ने बिना शर्त जेडीएस के एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने का ऑफर दिया था, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया था. 

इसके बाद सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने भाजपा के बीएस येदियुरप्पा को सरकार बनाने का न्यौता दिया था. जिसके खिलाफ कांग्रेस और जेडीएस सुप्रीम कोर्ट चली गई थी. हालांकि कोर्ट ने येदियुरप्पा सरकार के शपथ ग्रहण पर रोक की मांग को ठुकरा दिया था लेकिन राज्यपाल द्वारा दिए गए 15 दिन के समय को घटाकर एक दिन कर दिया था.

First published: 19 May 2018, 16:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी