Home » इंडिया » Karnataka: supreme court ask BS yeddyurappa to prove majority today at 4 pm on floor test
 

कर्नाटक: सिर्फ सात घंटे बाद गिर जाएगी येदियुरप्पा की सरकार, ये होंगे अगले मुख्यमंत्री!

आदित्य साहू | Updated on: 19 May 2018, 8:58 IST

सुप्रीम कोर्ट ने येदियुरप्पा सरकार को कनार्टक विधानसभा में आज शाम चार बजे फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने का आदेश दिया है. 222 सीटों पर हुए मतदान के बाद भाजपा को 104 जबकि कांग्रेस को 78 और जेडीएस गठबंधन को 38 सीटें मिली हैं. किसी भी दल को सरकार बनाने के लिए 112 सीटें चाहिए. कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिला दी है.

राज्यपाल ने बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया था लेकिन सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद येदियुरप्पा को आज शाम चार बजे तक फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करना होगा. अगर वह ऐसा नहीं कर पाए तो उनकी सरकार गिर जाएगी. इसकी संभावना भी है क्योंकि कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन ने दावा किया है कि उसने पहले ही राज्यपाल को 117 विधायकों की सूची वाली चिट्ठी सौंपी है.

 

बीजेपी के पास 104 सीटें हैं और उसे बहुमत साबित करने के लिए 8 विधायकों की और जरूरत होगी. सुप्रीम कोर्ट ने कल अपने आदेश मेें कहा था कि फ्लोर टेस्ट में गुप्त मतदान नहीं होगा यानि कि खुला मतदान होगा. इसकी वजह से कांग्रेस या जेडीएस के विधायक अगर बीजेपी के लिए वोट करते हैं तो उनकी सदस्यता रद्द करने की मांग की जा सकती है. क्योंकि दल-बदल कानून के तहत बीजेपी को लगभग दो-तिहाई सदस्यों को (यानि कांग्रेस के कम से कम 52 और जेडीएस के कम से कम 26) अपने पाले में करना पड़ेगा जिसकी संभावना न के बराबर है.

वहीं दूसरी तरफ ये हो सकता है कि कांग्रेस या जेडीएस के कम से कम 15 विधायक अगर वोट नहीं करते तो कुल विधायकों की संख्या सदन में 208 रह जाएगी इस तरह से बीजेपी 104 विधायकों के साथ बहुमत हासिल कर सकती है. हालांकि इसकी संभावना भी कम नजर आ रही है.

 

तीसरा विकल्प यह है कि बीजेपी अगर कांग्रेस और जेडीएस के कुछ विधायकों का इस्तीफा दिलवा दे और बाद में उपचुनाव के जरिए उन्हें अपने टिकट पर लड़ा दे तो भी सदन में कम विधायकों की संख्या के आधार पर बीजेपी अपना बहुमत साबित कर सकती है. इसकी संभावना भी थोड़ी सी है क्योंकि कांग्रेस में लिंगायत समुदाय के 21 विधायक और जेडीएस में लिंगायत समुदाय के 10 विधायक हैं. राज्य के बीजेपी मुख्यमंत्री येदियुरप्पा भी लिंगायत समुदाय से आते हैं. इस वजह से इसकी थोड़ी सी संभावना लग रही है. लेकिन यह भी बहुत ज्यादा नहीं है.

इस तरह से अगर बीजेपी बहुमत साबित नहीं कर पायी तो सिर्फ 54 घंटे बाद ही येदियुरप्पा की सरकार गिर जाएगी. येदियुरप्पा इससे पहले भी एक बार सात दिन के लिए राज्य के सीएम बन चुके हैं. इस तरह से वह अपना ही रिकॉर्ड तोड़ेंगे.

पढ़ें- कर्नाटक में BJP को बड़ा झटका- फ्लोर टेस्ट में नहीं होगा गुप्त मतदान

इस स्थिति में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन की सरकार बन जाएगी और जेडीएस नेता तथा पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा के बेटे एचडी कुमारस्वामी राज्य के मुख्यमंत्री बन जाएंगे. क्योंकि कांग्रेस ने बिना शर्त ही कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनने का ऑफर दिया है.

First published: 19 May 2018, 8:57 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी