Home » इंडिया » Karnataka: supreme court Hearing on Congress JDS plea challenging appointment of pro tem speaker KG Bopaiah
 

कर्नाटक: सुप्रीम कोर्ट से कांग्रेस को बड़ा झटका, नहीं बदला जाएगा प्रोटेम स्पीकर

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 May 2018, 11:26 IST

सुप्रीम कोर्ट से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के राज्यपाल द्वारा नियुक्त किए गए प्रोटेम स्पीकर को हटाने की कांग्रेस की मांग को ठुकरा दिया है. कोर्ट ने कहा है कि अगर हम इस पर फैसला देंगेे तो आज कर्नाटक सरकार का फ्लोर टेस्ट नहींं हो पाएगा. 

बता दें कि कर्नाटक के राज्यपाल ने बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का समय दिया था लेकिन सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप के बाद येदियुरप्पा को आज शाम चार बजे तक फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करना होगा. बहुमत परीक्षण के लिए कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला ने भारतीय जनता पार्टी के विधायक केजी बोपैया को प्रोटेम स्पीकर बनाया है.

इस बात को लेकर कांग्रेस नेता विरोध कर रहे थे. इसके लेकर कांग्रेस और जेडीएस ने एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. दोनों दलों ने प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति के फैसले को चुनौती दी था. कांग्रेस ने इसे नियम विरूद्ध बताया था. दोनों दलों ने सुप्रीम कोर्ट से इस पर तत्काल सुनवाई की मांग की थी. जिसे लेकर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला दिया.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम प्रोटेम स्पीकर को नहीं हटा सकते. इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि फ्लोर टेस्ट का लाइव प्रसारण किया जाए. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बोपैया ही प्रोटेम स्पीकर रहेंगे. 

इस बीच कर्नाटक विधानसभा का सत्र शुरू हो गया है. प्रोटेम स्पीकर केजी बोपैया ने विधानसभा में मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा को शपथ दिलाई.

बता दें कि इससे पहले प्रोटेम स्पीकर के लिए कांग्रेस के विधायक रघुनाथ विश्वनाथ देशपांडे का नाम था. रघुनाथ विश्वनाथ देशपांडे सदन के सबसे वरिष्ठ सदस्य हैं और बोपैया सिर्फ तीन बार बीजेपी के टिकट पर विधायक रह चुके हैं. 

दूसरी जो सबसे बड़ी बात है कांग्रेस को आशंका है कि येदियुरप्पा द्वारा विधानसभा में पेश किए जाने वाले विश्वास प्रस्ताव को बोपैया ध्वनि मत से पारित करने के बाद बिना मतदान कराए विधानसभा को स्थगित कर देंगे. इसके बाद कोर्ट में इसे चुनौती देने और फैसला आने में समय लगेगा. जिसके बाद भाजपा को बहुमत जुटाने का पर्याप्त समय मिल जाएगा.

First published: 19 May 2018, 11:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी