Home » इंडिया » Kartarpur corridor Pakistan concede india’s demands of visa free entry to Kartarpur sahib
 

करतारपुर कॉरिडोर: भारत के सामने नतमस्तक हुआ पाक, मानी हर बात, नहीं करेगा भारत विरोधी गतिविधि

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 July 2019, 15:12 IST

करतारपुर कॉरिडोर पर भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को बातचीत हुई. इस दौरान पाकिस्तान ने भारत की की मांगों को मान लिया. इसी के साथ भारतीय सिख समुदाय के श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब जाने का रास्ता साफ हो गया है. साथ ही सिख श्रद्धालु अब बिना वीजा के करतारपुर साहिब जा सकेंगे. यही नहीं हर दिन करीब पांच हजार श्रद्धालु करतारपुर साहिब में जाकर मत्था टेक सकेंगे. पाकिस्तान ने भारत के साथ अन्य मुद्दों पर अपना समर्थन देने का एलान किया है.

पाकिस्तान की ओर से कहा गया है कि करतारपुर कॉरिडोर में किसी प्रकार की भारत विरोधी गतिविधि नहीं होगा. पाकिस्तान में बाघा बॉर्डर पर हुई बैठक में पाकिस्ता और भारत के अधिकारियों ने हिस्सा लिया. पाकिस्ता ने विशष अवसरों पर 10,000 अतिरिक्त श्रद्धालुओं के आने की भारत की बात को भी मान लिया है.

यही नहीं पाकिस्तान ने भारत के अनुरोध पर केवल भारतीय नागरिकों को ही नहीं, बल्कि OCI कार्ड रखने वाले भारतीय मूल के व्यक्तियों को भी करतारपुर साहिब जाने की अनुमति दिए जाने पर मुहर लगा दी हैवहीं भारत के पाक अधिकारियों को डेरा बाबा नानक और आस-पास के क्षेत्रों में बाढ़ से संबंधित संभावित चिंताओं के बारे में अवगत कराया. जिसके परिणामस्वरूप पृथ्वी पर तटबंध सड़क या उसके किनारे पर पाकिस्तान द्वारा बनाए जाने का प्रस्ताव दिया गया था. इसे अंतरिम रूप से भी नहीं बनाया जाना चाहिए.

बैठक खत्म होने के बाद गृह मंत्रालय में संयुक्त सचिव (आतंरिक सुरक्षा) एससीएल दास ने बताया कि, 'भारत ने डेरा बाबा नानक और आसपास के इलाकों में बाढ़ को लेकर चिंता को पाकिस्तान से अवगत कराया था. तटवर्ती इलाकों में सड़क निर्माण का कार्य पाकिस्तान की तरफ से पूरा किया जा था.”

वहीं पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने कहा कि 80 फीसदी मुद्दों पर दोनों देशों के बीच सहमति बन गई. बाकी मुद्दों को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच एक और बैठक किए जाने की जरूरत हैबता दें कि भारत की ओर से चर्चा में शामिल प्रतिनिधिमंडल की एससीएल दास ने अगुवाई की, वहीं पाकिस्तान की ओर से इस मीटिंग में 20 प्रतिनिधि शामिल हुए थे. जिसका नेतृत्व मोहम्मद फैसल ने किया.

First published: 14 July 2019, 15:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी